संजय जायसवाल के मानसिक संतुलन पर जदयू प्रवक्‍ता ने भी उठाए सवाल

पटना । अग्निपथ योजना के विरोध   की आग अब सियासी गरमाहट में बदल चुकी है। जदयू और भाजपा (JDU and BJP) नेता रोज-रोज ऐसे बयान दे रहे हैं जिससे सियासी लपटें तेज हो रही हैं। जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ललन सिंह के बाद अब उनके प्रवक्‍ता ने भी भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष डा. संजय जायसवाल को लेकर बड़ा बयान दे दिया है। प्रवक्‍ता अभिषेक झा ने भी उनके मानसिक संतुलन पर सवाल उठाए हैं। साथ ही उन्‍होंने नाम लिए बिना कहा है कि भाजपा बड़बोले विधायक अपनी हद में रहें। उन्‍हें हमारे नेता नीतीश कुमार या ललन सिंह पर बोलने की औकात नहीं है।

घटक दलों से बिना विमर्श योजना लाती है केंद्र सरकार

एक मीडिया पोर्टल से बातचीत में अभिषेक झा ने कहा कि संजय जायसवाल (Dr Sanjay Jaiswal) जिस तरह का बयान दे रहे हैं, उससे स्‍पष्‍ट है कि उनका मानसिक संतुलन ठीक नहीं है। उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार बिना घटक दलों से विमर्श किए योजनाएं लाती हैं। इससे असंतोष का भाव पनपता है। पहले भी केंद्र सरकार को बैकफुट पर आना पड़ा है। यही बात हमारे नेताओं ने कही है। इसपर डा. जायसवाल का बयान यह दर्शाता है कि उनका संतुलन बिगड़ चुका है।

भाजपा विधायक पर जमकर निकाली भड़ास 

अभिषेक झा ने कहा कि भाजपा के कुछ बड़बोले और छुटभैये नेता हैं जो अपनी राजनीतिक हैसियत और औकात भूल जाते हैं। आज तक इन लोगों ने किया क्‍या है। बिहार की राजनीति का इतिहास रहा है कि नीतीश कुमार ने जिस भी गठबंधन का नेतृत्‍व किया है, जनता ने आशीर्वाद उसे ही दिया है। 2015 का चुनाव तो भूले नहीं हैं न। ललन सिंह, उपेंद्र कुशवाहा का लंबा राजनीतिक जीवन रहा है। ये बात बीजेपी के वे नेता तो जानते नहीं फिजूल की बातें करते हैं। उनके बयान से उनकी पार्टी की ही फजीहत होती है। उनके बयानों को स्‍पष्‍ट है कि वे पीएम नरेंद्र मोदी से विरोधाभास रखते हैं।

See also  एसएसपी टीम ने आख़िरकार क़ासिम को गिरोह के 6 सदस्यों के साथ कर लिया गिरफ़्तार