गया: छात्र व युवा संगठनों द्वारा भारत बंद के एलान को लेकर जिला प्रशासन सतर्क है। बंद के दौरान कोई अप्रिय घटना न हो इसको लेकर रणनीति बनाई गई है। जिससे असामाजिक तत्वों के मंसूबे पर पानी फेरा जा सके। जिला प्रशासन के निर्देश पर सोमवार को मोहनिया के चप्पे-चप्पे पर पुलिस व प्रशासनिक पदाधिकारियों के साथ भारी संख्या में पुलिस के जवान तैनात रहेंगे। रेलवे स्टेशन, बस पड़ाव, चांदनी चौक एवं एनएच 30 मोड़ के समीप जीटी रोड पर प्रशासन की कड़ी नजर होगी। कुदरा से कर्मनाशा तक रेल व सड़क यातायात प्रभावित न हो इस पर प्रशासन का पूरा ध्यान होगा। भारत बंद को लेकर रविवार को मोहनियां में फ्लैग मार्च निकाला गया। जिसमें कैमूर के डीएम नवदीप शुक्ला, एसपी राजेश कुमार सहित कई पदाधिकारी, आधा दर्जन वज्र और दंगा नियंत्रक वाहन शामिल रहे।

फ्लैग मार्च में करीब 50 वाहनों का काफिला शामिल रहा।

वज्र व दंगा नियंत्रक वाहनों के साथ सायरन बजाती हुई गाड़ियों को दौड़ते देख सबका ध्यान उधर चला गया। लोग समझ नहीं पा रहे थे की इतनी संख्या में गाड़ियों के साथ पुलिस व प्रशासनिक पदाधिकारी कहां जा रहे हैं। फिर कहीं बवाल तो नहीं हो गया। थोड़ी देर में स्थिति स्पष्ट हो गई। लोगों को बताया गया कि भारत बंद के दौरान किसी तरह की मनमानी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। विधि व्यवस्था में खलल डालने वालों से प्रशासन सख्ती से निपटेगा। रविवार को सुबह में भी पुलिस अधीक्षक ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय-गया रेलखंड पर अवस्थित भभुआ रोड स्टेशन पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उनके साथ मोहनियां के डीएसपी फैज अहमद खान पुलिस निरीक्षक इंतखाब अहमद मोहनिया के थानाध्यक्ष ललन कुमार दल बल के साथ मौजूद थे।

See also  राम विलास पासवान की जयंती पर पहली पत्‍नी राजकुमारी देवी ने खोला राज