जमीन के विवाद में पिता-पुत्र के साथ मारपीट

कैमूर। चैनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मेढ़ निवासी पिता पुत्र के ऊपर मंदिर के जमीन के विवाद को लेकर गांव के ही कुछ लोगों के द्वारा हमला कर देने का मामला सामने आया है। मारपीट के दौरान पिता-पुत्र को गंभीर चोटें आई हैं। जिन्हें बेहतर इलाज के लिए रेफर किया गया है। घायलों की पहचान ग्राम मेढ़ के निवासी 66 वर्षीय राजनाथ सिंह एवं उनके पुत्र 25 वर्षीय संग्राम सिंह के रूप में की गई है। जिसमें पिता की हालत गंभीर है।

घायल पिता पुत्र ने बताया कि ग्राम दुबे के सरैया में ठाकुरबाड़ी स्थित है। जिसकी जमीन ग्राम मेढ़ में है। उस मंदिर के उपाध्यक्ष राजनाथ सिंह पिता स्व सागर सिंह एवं सचिव रामाशंकर नोनिया पिता स्व. श्री नोनिया दोनों ग्राम मेढ़ के निवासी हैं। ठाकुरबाड़ी की जमीन से संबंधित कार्य के लिए राजनाथ सिंह एवं रामाशंकर नोनिया पटना गए हुए थे।

सुबह पटना से लौटने के बाद गांव पर जाने के लिए हाटा पहुंचने पर राजनाथ सिंह के द्वारा अपने पुत्र संग्राम सिंह को फोन करके हाटा ही मोटरसाइकिल लेकर बुलाया गया। यह दोनों लोग गांव पर जा सके। जब संग्राम सिंह मोटरसाइकिल लेकर हाटा पहुंचे तो दोनों को बैठाकर गांव ले जाने लगे। दुबे के सरैया गांव के बगल से मेढ़ जाने वाले रास्ते से जब यह लोग गुजर रहे थे उस दौरान ग्राम मेढ़ के ही निवासी रामप्रताप पांडेय, बबलू पांडेय दोनों के पिता कमल पांडेय एवं कमल पांडेय पिता स्व. रेंगई पांडेय सहित चार अन्य अज्ञात लोगों ने बीच रास्ते में घेर लिया और मारपीट करने लगे।

See also  जल स्तर खिसकने से पेयजल का संकट गहराया

इस दौरान सचिव रामाशंकर नोनिया जान बचाकर मौके पर से भाग निकले। राजनाथ सिंह एवं उनके पुत्र संग्राम सिंह को लोगों के द्वारा लाठी डंडे से मारपीट किया जाने लगा। उस दौरान रामप्रताप पांडेय के द्वारा हाथ में लिए गए कट्टे से राजनाथ सिंह के ऊपर फायर किया गया जो गोली किचक गई।

 

दोबारा फिर से उनके द्वारा गोली भरा जाने लगा तब तक हल्ल सुनकर लोगों को आते देख सभी लोग मौके पर से भाग निकले। यह दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। जिसकी सूचना स्थानीय लोगों के द्वारा थाने को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस के सहयोग से इन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां इनका प्राथमिक इलाज हुआ।