बक्सर : बाढ़ पूर्व तैयारी को लेकर गुरुवार को बक्सर-कोइलवर तटबंध का निरीक्षण करने पहुंचे जिला पदाधिकारी गंगा कटाव की समस्या को लेकर काफी गंभीर दिखे। इस दौरान उन्होंने केशोपुर से लेकर बड़का गांव के बीच कटाव वाले स्थान पर कटाव निरोधी कार्य कराने का निर्देश दिया। 21 जून को दैनिक जागरण ने प्रमुखता के साथ बड़कागांव से लेकर केशोपुर तक गंगा में कटाव जारी शीर्षक से खबर को प्रकाशित होने के बाद डीएम ने उसे गंभीरता से लिया और गुरुवार को स्थिति का आकलन करने के लिए केशोपुर पहुंच गए।

उसके बाद से प्रशासनिक गतिविधियां तेज हो गई है। डीएम के निर्देश के बाद बाढ़ नियंत्रण विभाग इसको लेकर काफी सक्रिय हो गया है लेकिन विभागीय सक्रियता कब तक कायम रहेगी यह तो आगे आने वाला समय ही बताएगा। सनद रहे कि सिमरी प्रखंड के बड़का गांव से लेकर केशोपुर कमला राय के बगीचे के बीच कराए गए गंगा कटाव निरोधक कार्य के बावजूद यह प्रक्रिया अर्वाद्ध रूप से जारी है। आलम यह है कि अब बीस के डेरा बस्ती से गंगा की दूरी महज दो सौ मीटर के आस पास रह गई है।

संतोष मिश्रा, दीपक मिश्रा, शैलेन्द्र मिश्र रामदेव यादव सहित कई अन्य लोगों ने बताया कि प्रशासन द्वारा पूर्व में कटाव निरोधी कार्य कराया गया था, लेकिन जहां काम नहीं हुआ था पुन: वही से कटाव शुरू हो गया है। इतना ही नहीं इसके चलते क्षेत्रीय किसानों के सैकड़ों एकड़ रैयती भूमि गंगा के गर्भ में समाहित हो चुकी है। हालांकि इस समस्या के प्रति जिलाधिकारी की सक्रियता को देखते हुए लोगों में आशा की किरण जागृत हुई है कि बाढ़ नियंत्रण विभाग तत्काल इस समस्या के निराकरण हेतु यथोचित कदम उठाएगा।