(winning 1 crore, )
(winning 1 crore, )

1 करोड़ जीतने (winning 1 crore, )के बावजूद करोड़पति नहीं बन पाएंगी. जानिए क्यों?

‘कौन बनेगा करोड़पति’ सीजन 14 को उसकी पहली करोड़पति मिल चुकी है. ज्ञान और मेहनत से इंसान कुछ भी हासिल कर सकता है और ‘कौन बनेगा करोड़पति’ आपको एक ऐसा ही मंच मुहैया कराता है, जहां आप अपने ज्ञान से रातों-रात करोड़पति बन सकते हैं.

‘कौन बनेगा करोड़पति’ सीजन 14 की पहली करोड़पति महाराष्ट्र की कविता चावला हैं. उन्होंने अपने ज्ञान का प्रदर्शन करते हुए शो पर तो एक 1 करोड़ रुपये जीत (winning 1 crore, ) लिए हैं, लेकिन क्या वह सच में बन पाएंगी करोड़पति?

घर बैठे ‘कौन बनेगा करोड़पति’ देख रहे सभी दर्शकों को अभी यही लग रहा होगा कि कविता चावला तो करोड़पति बन चुकी हैं, लेकिन हकीकत इससे थोड़ी सी अलग है.

दरअसल, ‘कौन बनेगा करोड़पति’ शो पर जीती गई कोई भी धनराशि कभी भी किसी भी कंटेस्टेंट को पूरी नहीं मिलती है. शो पर जीती गई धनराशि पर कंटेस्टेंट को अच्छा-खासा टैक्स भरना पड़ता है. हालांकि जीती गई धनराशि पर कितना प्रतिशत टैक्स कटता है, इसकी कोई जानकारी केबीसी की टीम द्वारा उपलब्ध नहीं कराई गई है. इस कारण से ही मुंबई की कविता चावला करोड़पति बनकर भी असल में करोड़पति नहीं बन पाईं.

कविता चावला शो पर 7.5 करोड़ रुपये भी जीत सकती थीं, पर उन्होंने ज्यादा रिस्क ना लेते हुए और अपनी सूझ-बूझ का परिचय दिया और गेम को क्विट कर दिया. शो के होस्ट अमिताभ बच्चनने भी उनके गेम की काफी प्रशंसा की थी.

कई सालों का सपना था केबीसी पर आना
1 करोड़ रुपये जीतने के बाद चारों तरफ कविता चावला का ही जिक्र है. सोशल मीडिया पर भी उनकी खूब चर्चा हो रही है, लेकिन 1 करोड़ रुपये जीतने का उनका सफर बिल्कुल भी आसान नहीं था. शो के दौरान उन्हें कई मुश्किल सवालों का सामना भी करना पड़ा, पर उन्होंने संयम से काम लिया और 1 करोड़ रुपये जीत गईं.

See also  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को मिली बड़ी जिम्मेदारी

बता दें कविता साल 2000 से केबीसी पर आने का प्रयास कर रही हैं. अब 22 साल बाद उनका ना सिर्फ ‘हॉट सीट’ पर बैठने का सपना सच हुआ है, बल्कि वह सीजन की पहली करोड़पति भी बन गई हैं.