पोषण योजना के शत प्रतिशत अनुपालन हेतु विभागीय अधिकारी दे अपना योगदान – एडीएम

बस्ती – जिला पोषण समिति की बैठक अपर जिलाधिकारी अभय कुमार मिश्र की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। उन्होने बैठक में सभी बाल विकास परियोजना अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि पोषण प्रबंधन एवं कुपोषण से बचाव के लिए शासन द्वारा संचालित पोषण योजना स्वस्थ परिवार का प्रमुख आधार है। पोषण योजना के शत प्रतिशत अनुपालन हेतु सभी विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी दृढ़ संकल्पित होकर अपना योगदान दें।
जिला कार्यक्रम अधिकारी सावित्री देवी ने बताया कि बीएचएसएनडी सत्र पर स्वास्थ्य प्रबंधन एवं अनुश्रवण के लिए प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को कार्यकत्रियों के माध्यम से टीकाकरण, वजन, ग्रोथ चार्ट, गंर्भवती/धात्री का स्वास्थ्य परीक्षण, बच्चों का सन्दर्भ/भर्ती कराने का नियमित अनुश्रवण किया जा रहा है। जिले में लक्ष्य 2655 के सापेक्ष 2606 पोषण वाटिका की स्थापना की जा चुकी है, अवशेष पर कार्यवाही की जा रही है। खाद्यान्न वितरण एवं उठान की कार्यवाही समयान्तर्गत की जा रही है। उन्होंने बताया कि बीआरसी पर 85 सन्दर्भन एवं 23 भर्ती तथा एनआरसी में 44 सन्दर्भन व 21 भर्ती कराया गया है। पोषण ट्रेकर पर फीडिंग की कार्यवाही प्रगति पर है। शीघ्र ही शत प्रतिशत फीडिंग पूरी हो जायेगी।
उन्होंने बताया कि ई-कवच में ए0एन0एम0 के माध्यम से 342 सैम बच्चों का पंजीकरण किया गया है। शासन से प्राप्त निर्देश के क्रम में 26 मई को अपरान्ह 12.00 बजे से 2.00 बजे के मध्य एन0आई0सी0 के माध्यम से पोषण पाठशाला कार्यक्रम का प्रसारण किया गया। इसका मुख्य थीम ‘शीघ्र स्तनपान/केवल स्तनपान है’ वेब लिंक के माध्यम से लाभार्थी एवं आम जनमानस को जुड़ने के लिए भी प्रेरित किया गया। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां अपने स्मार्ट फोन के द्वारा वेब लिंक के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ी रहीं।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में शीघ्र स्तनपान की दर 23.9 प्रतिशत है। जबकि 6 माह तक के शिशुओं में केवल स्तनपान की दर 59.7 प्रतिशत हैं। केवल स्तनपान को लेकर चलाये जा रहे इस कार्यक्रम में माह मई व जून में ‘‘पानी नहीं केवल स्तनपान’’, ‘‘मां का दूध शिशु के लिए अमृत समान’’ का अभियान चलाया जा रहा है।
बैठक में अपर उप जिलाधिकारी आनन्द श्रीनेत, उपजिलाधिकारी सदर सूरज यादव, जिला विकास अधिकारी अजीत श्रीवास्तव, एसीएमओ डा0 सी0के0 वर्मा एनआरएलएम रामदुलार, डीपीआरओ एस0एस0 सिंह, डीडीसी अनिल राय अपर संख्याधिकारी नागेन्द्र सिंह तथा सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी उपस्थित रहे।

See also  प्रवासी श्रमिको को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत दिया गया तीन दिवसीय प्रशिक्षण