देवरिया में करोड़ों रुपए के खाद्यान का घोटाला उजागर
देवरिया में करोड़ों रुपए के खाद्यान का घोटाला उजागर

देवरिया में करोड़ों रुपए के खाद्यान का घोटाला उजागर

देवरिया: देवरिया में स्टॉक में गड़बड़ी कर करोड़ों रुपए के खाद्यान की हेरा फेरी करने वाले विपणन अधिकारी के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर गोदाम को सील कर दिया गया है। जिलाधिकारी के निर्देश फुलवरिया स्थित हाट शाखा भाटपार रानी में संयुक्त टीम द्वारा जांच की गई। जांच के दौरान संयुक्त टीम ने विपणन अधिकारी के विरुद्ध गड़बड़ी के ठोस सबूत पाए। जांच टीम की रिपोर्ट पर गोदाम को सील कर दिया गया है।वहीं गड़बड़ी की आशंका में गोदाम पर पुलिस की तैनाती कर दी गई है।भाटपार रानी थाना क्षेत्र के फुलवरिया चौराहे के निकट हाट शाखा भाटपार रानी का गोदाम है। ज्वाइंट डायरेक्टर खाद्य ने 28 जुलाई को गोदाम का निरीक्षण किया। जिसमें उनकी स्टॉक कम होने का अंदेशा हुआ। उन्होंने इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को दी। जिलाधिकारी ने गड़बड़ी की आशंका में गोदाम को सील करा दिया।जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह ने गड़बड़ी के खुलासे के लिए उप जिलाधिकारी अरुण कुमार वर्मा के नेतृत्व में डिप्टी आर एम ओ भीम चंद्र गौतम, एसएमआई बनकटा, बी डी ओ भाटपार रानी और जिला पूर्ति अधिकारी संजय पांडेय की जांच टीम गठित की।जिलाधिकारी के निर्देश पर जांच टीम ने स्टॉक में दर्ज खाद्यान का मिलान शुरू किया। जिसमें गोदाम में 16176 बोरी के बजाय 5955 बोरी ही खाद्यान मिला। जांच टीम ने देर शाम अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंप दी जिलाधिकारी ने बताया कि जांच टीम ने स्टॉक में दर्ज खाद्यान कम पाया है। जिम्मेदारों के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम समेत अन्य सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा। थानाध्यक्ष जितेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि आरोपी विपणन अधिकारी राहुल सिंह के खिलाफ 3/7आवश्यक वस्तु अधिनियम,409 भारतीय दण्ड संहिता तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है।

See also  :अंग्रेजों के दौर की सब्जी मंडी पर रेलवे ने चला बुलडोजर