पत्रकारों के बच्चों को मिलेगी 13,500 रुपए तक…

जयपुर: पत्रकारों के बच्चों को प्री-मैट्रिक एवं पोस्ट-मैट्रिक स्कॉलरशिप मिलेगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस संबंध में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा तैयार अधिसूचना को मंजूरी प्रदान की है। राजस्थान सरकार की ओर से यह मंजूरी बीते 9 सितंबर को ही प्रदान की गई है।

पोस्ट -मैट्रिक में 13,500 रुपए तक की छात्रवृत्ति
पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना के तहत उच्च शिक्षा संस्थानों में अध्ययनरत अधिस्वीकृत पत्रकारों के बच्चों को स्कॉलरशिप दी जाएगी। इसमें हॉस्टलर्स को 4,000 से 13,500 रुपए तक तथा डे स्कॉलर्स को 2,500 से 7,000 रुपए तक का प्रावधान है।

पोस्ट-मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना को चार वर्गों में बांटा गया है। स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर के प्रोफेशनल डिग्री कोर्सेज के लिए हॉस्टलर्स को 13,500 रुपए व डे स्कॉलर्स को 7,000 रुपए की स्कॉलरशिप दी जाएगी। विभिन्न प्रोफेशनल कोर्सेज जिनमें डिग्री व डिप्लोमा सर्टिफिकेट मिलता हो, में अध्ययनरत हॉस्टलर्स को 9,500 रुपए व डे स्कॉलर्स को 6,500 रुपए की स्कॉलरशिप मिलेगी। वहीं, 10वीं कक्षा के बाद किए जाने वाले विभिन्न नॉन डिग्री कोर्सेज के लिए हॉस्टलर्स को 4,000 रुपए व डे स्कॉलर्स को 2,500 रुपए की वार्षिक छात्रवृत्ति तथा अन्य स्नातक व स्नातकोत्तर कोर्सेज कर रहे हॉस्टलर्स के लिए 6,000 रुपए व डे स्कॉलर्स के लिए 3,000 रुपए की स्कॉलरशिप का प्रावधान किया गया है।

6 से 10वीं तक के विद्यार्थियों को प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप
प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप के अंर्तगत अधिस्वीकृत पत्रकारों के कक्षा 6 से 10वीं में अध्ययनरत बच्चों को स्कॉलरशिप मिलेगी। इसमें एक वर्ष में अधिकतम 10 माह लगभग 1000 रुपए (100 रुपए प्रतिमाह) की प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप दी जाएगी।

राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बजट 2022-23 में समाज को जागरूक करने में पत्रकारों की महत्ती भूमिका को ध्यान में रखते हुए उन्हें सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध कराने की दिशा में पत्रकारों के बच्चों हेतु स्कॉलरशिप देने की घोषणा की थी। इसी घोषणा को लागू करते हुए राजस्थान में पत्रकार एवं साहित्यकार कल्याण कोष से पत्रकारों के बच्चों को स्कॉलरशिप देने के लिए स्वीकृति प्रदान की है।

See also  दिशा व स्वाभिमान एप को मिला एकेटीयू का स्टार्ट अप सम्मान