वाराणसी में घने कोहरे ने रोकी जनजीवन की रफ्तार

वाराणसी में घने कोहरे ने रोकी जनजीवन की रफ्तार

वाराणसी। वाराणसी सहित पूर्वांचल के जिलों में गुरुवार को पूर्वाह्न दस बजे तक घने कोहरे की चादर जमीन से लेकर आसमान तक छायी रही। घने कोहरे के चलते वाहन चालकों को कुछ कदम की दूरी साफ नहीं दिख रही थी। सड़कों पर पूर्वाह्न 9 बजे तक लोग वाहनों की लाइट जलाकर चल रहे थे। गंगा किनारे एक घाट से दूसरा घाट नहीं नजर आ रहा था।

घने कोहरे और ठंड के चलते सुबह जनजीवन की रफ्तार भी थमी रही। दुकान और बाजार देर से खुले। पूर्वाह्न 10 बजे के बाद भगवान सूर्यदेव ने दर्शन दिया तो लोगों ने राहत की सांस ली। वाराणसी का अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 11डिग्री सेल्सियस रहा।

हवा की रफ्तार दो किमी प्रति घंटा, नमी 60 फीसदी दर्ज् की गई। मौसम विभाग के अनुसार सीजन का सबसे घना कोहरा छाया रहा। भोर में विजिबिलिटी शून्य हो गई थी। पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव अब जिले में दिखने लगा है। वाराणसी सहित पूर्वांचल के जिलों में अगले 4-5 दिनों तक कोहरे का असर रहेगा।

Tags: Varanasi

About The Author

Latest News