शहरी क्षेत्र में आयुष्मान कार्ड बनाने को शुरू हुआ अभियान

जनपद के शहरी निकायों में शिविर लगाकर बनाए जा रहे कार्ड।

रायबरेली । प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाने को लेकर  शहरी क्षेत्र में 26 दिसम्बर दिन मंगलवार से ही विशेष अभियान शुरू किया गया है। 10 जनवरी तक चलने वाले इस विशेष अभियान के दौरान पात्र गृहस्थी राशन कार्ड पात्रता सूची में पांच से अधिक सदस्यों वाले लाभार्थी परिवारों के कार्ड बनाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है।मुख्य चिकित्सा अधिकारी  डॉ. वीरेंद्र सिंह ने बताया कि आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के तहत यह आयुष्मान कार्ड बनाए जाते हैं। इस कार्ड के माध्यम से लाभार्थी देश भर में पंजीकृत किसी भी अस्पताल में भर्ती होकर पांच लाख रुपए तक का अपना उपचार करा सकता है।
 
उन्होंने बताया कि इस योजना से हाल ही में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम की पात्र गृहस्थी राशन कार्ड पात्रता सूची में छह या छह से अधिक सदस्यों वाले परिवारों को भी जोड़ा गया है।ऐसे परिवारों को भी योजना में शामिल किया गया है जिनमें केवल वरिष्ठ नागरिक ही सदस्य हैं। ऐसे नये सदस्यों का कार्ड बनाने पर अधिक जोर है।नोडल  अधिकारी डॉ अशोक कुमार ने जनसामान्य से अपील की है कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के जिन पात्र लाभार्थियों ने अभी तक अपना आयुष्मान कार्ड नहीं बनवाया है, वह शीघ्र ही अपना कार्ड बनवा लें | योजना के तहत सूचीबद्ध देश के किसी भी  अस्पताल में आयुष्मान कार्ड के माध्यम से इयालज कराया जा यकता है|
इसलिए ही शहर से बाहर जाने पर इसे सदैव अपने पास रखें, जिससे किसी विशेष परिस्थिति में इसका उपयोग किया जा सके।
 
कार्यक्रम के जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. सौरभ चौधरी ने बताया कि जिले में कुल नौ निकाय हैं और इनमें छह या छह से अधिक यूनिट वाले पात्र गृहस्थी वाले और वरिष्ठ नागरिकों सहित कुल लगभग 4 लाख 22 हजार लाभार्थी हैं। जिनमें से करीब 2 लाख 11 हजार लाभार्थियों के कार्ड बनाए जा चुके हैं। शेष लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाने का काम तेजी से चल रहा है। वर्तमान समय में शहरी क्षेत्र में कुल 10 शिविर लगाकर आयुष्मान कार्ड बनाने का काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि जिले के लगभग 3,3853 लोगों ने आयुष्मान कार्ड के माध्यम से योजना के तहत सूचीबद्ध एम्स सहित 76  सरकारी स्वास्थ्य केंद्र एवं 10 निजी अस्पतालों में उपचार का लाभ लिया है।
 
इन बीमारियों में मिलता लाभ ---
आयुष्मान योजना के नोडल अधिकारी डा. अशोक कुमार ने बताया कि योजना के अंतर्गत कुल 2,250 बीमारियां शामिल हैं। इसमें मातृ स्वास्थ्य और प्रसव या उच्च जोखिम प्रसव की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य स्वास्थ्य, कैंसर, टीबी, कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरेपी, हार्ट बाईपास सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, आंखों की सर्जरी, दिल की बीमारी, किडनी, लीवर, कोरोनरी बाईपास, घुटना प्रत्यारोपण, स्टंट डालना, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित बीमारियां, डायरिया, मलेरिया आदि शामिल है। इन समस्याओं के हल के लिए मरीज के भर्ती होने पर विभिन्न आयुष्मान सूचीबद्ध चिकित्सालयों में उपचार उपलब्ध है।
 

About The Author

Latest News

निःशुक्ल विद्युतचालित चाक मशीन के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह निःशुक्ल विद्युतचालित चाक मशीन के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह
बस्ती - माटीकला के कामगारों एवं शिल्पकारों को मिट्टी के विभिन्न प्रकार के बर्तनों, खिलौनों, मूर्तियों आदि का निर्माण कर...
मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह
डाक विभाग के मण्डलीय मेले में दिया कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी
गला काटकर हत्या मामले में दोषियों के गिरफ्तारी की मांग,आई.जी. तक पहुंचा मामला
पतंजलि का योग प्रोटोकाल 19 जून से किसान डिग्री कॉलेज बस्ती में - ओम प्रकाश आर्य
पुलिस लाइन मे योग शिविर का आयोजन
भगवानपुर:पत्रकार ने एसडीएम के नाम से होटल स्वामी से प्रतिमाह 10 हजार रुपए ठगे