पीएनबी के एटीएम से 13 लाख कैश चोरी

मुंह पर कपड़ा ढककर घुसा एटीएम के अंदर

पीएनबी के एटीएम से 13 लाख कैश चोरी

  • हाथ में लिखे पिन कोड को डालकर खोला एटीएम
  • गाजीपुर पुलिस ने तहरीर मिलने पर दर्ज किया मुकदमा
लखनऊ । राजधानी के गाजीपुर थानाक्षेत्र के इंदिरानगर में पीएनबी के एटीएम से 13 लाख  कैश चोरी करने का मामला सामने आया है। इस मामले की तहरीर पुलिस को दी गई है। पुलिस ने चोरी का मुकदमा दर्ज कर कर लिया है। बताया जा रहा कि एटीएम से लाखों रुपये की चोरी करने के वाले मुंह पर कपड़ा ढक कर अंदर घुसे। इसे बाद हाथ पर लिखे पिन कोड को डालकर चोरी की घटना का दिया अंजाम। पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। पुलिस ने तहरीर दर्ज करने के बाद जांच शुरू कर दी है।
 
रवीन्द्र शर्मा पुत्र दयाराम शर्मा निवासी-सीएमएस इन्फो सिस्टम सीपी विराजखण्ड नियर सहारा हॉस्पिटल गोमतीनगर ने थाना गाजीपुर पर सूचना दिया कि वह सीएमएस इन्फो सिस्टम लिमिटेड कम्पनी लखनऊ में रिजनल आपरेशन मैनेजर के पद पर नियुक्त है। उसकी कम्पनी विभिन्न बैंकों के एटीएम में कैश लोडिंग का कार्य करती है। लखनऊ में एटीमएम में लोडिंग का कार्य करने हेतु ब्रान्च में नियुक्त कस्टोडियन के माध्यम से कराई जाती है। जो प्राप्त इंडेन्ट के अनुसार बैंक विथड्राल के ऊपर एजेन्ट के रूप में कार्य करते हुए लोडिंग करते हैं।
 
लखनऊ ब्रान्च में कस्टोडियन नौशाद अली पुत्र इरशाद अली निवासी बेगमपुरवा थाना बाबू पुरवा कानपुर नगर व सूरज मौर्या पुत्र श्याम नरायण मौर्या निवासी ग्राम भटवाराकला पिपरिया थाना चकिया जनपद चंदौली नियुक्त हैं तथा रूट के एटीएम में कैश लोडिंग करते हैं। 19 दिसंबर को सेक्टर बी इन्दिरानगर में स्थित पीएनबी एटीएम में समय करीब 11.48 बजे दोपहर को उक्त एटीएम में एक अज्ञात व्यक्ति जो अपना मुंह ढका हुआ था आया और हाथ पर लिखा कोड को देखकर एटीएम को खोला और 1308500 रुपए चोरी से निकाल लिये।
 
उक्त व्यक्ति एटीएम से बाहर निकलकर फोन से किसी व्यक्ति से फोन से बात भी कर रहा था। उक्त चोरी हुए एटीएम से पैसे मिलान करने पता चला कि पैसा चोरी हुआ है। यह घटना सीसीटीवी फुटेज में आ गयी है। उल्लेखनीय है कि कस्टोडियन नौशाद अली व इसी ब्रान्च में कार्यरत कस्टोडियन शिवांक देवांशी मल्हौर लखनऊ में एक ही रूम में किराये पर रहते हैं। तथा कस्टोडियन सूरज कुमार मौर्य के अवकाश पर होने के कारण उक्त रूट पर कस्टोडियन शिवांक व प्रदीप भी काम किये हैं। अज्ञात व्यक्ति जिसने रूपया चोरी किया है उसके द्वारा बिना एटीएम पिन के पैसा नहीं निकाला जा सकता था। वादी को पूरी तरह से विश्वास है कि उक्त चारों व्यक्तियों द्वारा किसी अज्ञात व्यक्ति से चोरी करायी गयी है। तहरीर मिलने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। 
Tags: lucknow

About The Author

Latest News