रेलवे स्टेशन पर मनाया गया स्टेशन महोत्सव

रेलवे स्टेशन पर मनाया गया स्टेशन महोत्सव

अजमेर। अजमेर स्टेशन के गौरवमय इतिहास को याद कर अजमेर स्टेशन पर "स्टेशन महोत्सव" मनाया गया । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में स्टेशन महोत्सव योजना के अंतर्गत पूरे भारत वर्ष में स्टेशनों का स्थापना दिवस कार्यक्रम मनाया जा रहा है। इसी क्रम में अजमेर मंडल के स्टेशनों पर भी स्टेशन महोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया । इसकी शुरूआत में आज अजमेर रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म संख्या एक की ओर स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में स्टेशन महोत्सव का आयोजन किया गया । मण्डल रेल प्रबंधक राजीव धनखड़ व डीएफसीसीआईएल के महाप्रबंधक (समन्वय) एस आर सांगवा की उपस्थिति में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों व अधिकारियों एवं स्कूली बच्चों को सम्मानित किया गया। सांस्कृतिक प्रस्तुति के अंतर्गत सेंट्रल जैल की आर्केस्ट्रा टीम द्वारा गीतों की शानदार प्रस्तुति दी गई। रेल कलाकारों द्वारा भी मोहक प्रस्तुति दी गई। अजमेर स्टेशन भवन की समाकृति का केक भी इस अवसर पर काटा गया और आजादी के प्रतीक गुब्बारे भी उड़ाये गए।

इनके अलावा स्टेशन मैनेजर अवधेश कुमार, स्टेशन पर कार्यरत रेलवे स्टाफ, स्कूल छात्र छात्राएं, बच्चे, कुली, रेल यात्री व आमजन उपस्थित थे। महोत्सव के दौरान स्टेशन के इतिहास और स्टेशन के बारे में जागरूकता बढाने के लिए प्रस्तुतिकरण वीडियो वॉल पर प्रदर्शित किया गया। जिसमे अजमेर स्टेशन के प्राचीन फोटो व जानकारी आदि प्रदर्शित की गई। प्रदर्शित की गई सामग्री में अजमेर मंडल का इतिहास, पुरानी फोटो, स्थापना पट्टिका, आगरा- अजमेर रेल लाइन, राजपूताना स्टेट रेलवे के अंतर्गत नीमच- अजमेर रेल लाइन, पश्चिमी राजपूताना स्टेट रेलवे के अंतर्गत अजमेर- अहमदाबाद लाइन, अजमेर रेलवे स्टेशन का वर्ष 1905 का फोटो, वर्ष 1908 में अजमेर स्टेशन पर खड़ी ट्रेन का फोटो, बीबी एंड सेंट्रल इंडिया रेलवे द्वारा अजमेर वर्कशॉप में निर्मित करवाए गए इंजन का फोटो, अजमेर स्टेशन के ब्रॉड गेज व मीटर गेज से संबंधित फोटोग्राफ, रेल म्यूजियम अजमेर में स्थापित अजमेर रेलवे स्टेशन का मॉडल जैसी सामग्री उपलब्ध कराई गई। वर्तमान स्टेशन बिल्डिंग का निर्माण वर्ष 1900 में किया गया था । आधुनिकता व विकास के इस दौर में विरासत को सजोए रखते हुए अजमेर स्टेशन पर लगातार यात्री सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है । अगली कड़ी में भीलवाड़ा स्टेशन पर मंगलवार 26 2023 को स्टेशन महोत्सव का आयोजन किया जाएगा।

राजपूताना-मालवा रेलवे का निर्माण सन् 1870 में हुआ
अजमेर मंडल उत्तर पश्चिम रेलवे का महत्वपूर्ण मंडल है जिसमें अजमेर स्टेशन सबसे प्रमुख स्टेशन है। गौरवशाली अतीत और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि वाली राजपूताना-मालवा रेलवे का निर्माण सन् 1870 में शुरू किया गया था। दिल्ली-रेवाड़ी लाइन का निर्माण सन् 1872 में और रेवाडी-अजमेर (मदार-अजमेर) का निर्माण सन् 1875 में और अजमेर-अहमदाबाद लाइन का निर्माण 1881 में हुआ। अजमेर मंडल सन् 1956 में मुख्य रूप से मीटर गेज प्रणाली पर अस्तित्व में आया। मदार से अजमेर तक मीटर गेज का ब्रॉड गेज में रूपांतरण सन् 1995 में पूरा हुआ और चलने वाली पहली ट्रेन दिल्ली-जयपुर शताब्दी एक्सप्रेस थी, जिसे बाद में जयपुर से अजमेर तक बढ़ा दिया गया था। इसके बाद, अजमेर और अहमदाबाद के बीच मीटर गेज को भी ब्रॉड गेज में बदल दिया गया और 3 मई, 1997 को चालू कर दिया गया।

 

Tags:

About The Author

Latest News