प्रोफेसर आरिफ नज़ीर नये ईसी सदस्य नियुक्त

प्रोफेसर आरिफ नज़ीर नये ईसी सदस्य नियुक्त

अलीगढ़। प्रोफेसर आरिफ नजीर, डीन, कला संकाय, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को डीन पद के वरिष्ठता के क्रम में विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद के सदस्य बन गये बन गये है। उनका कार्यकाल 23 दिसंबर से संबंधित संकाय के डीन पद पर बने रहने तक होगा
प्रोफेसर आरिफ़ नज़ीर अप्रैल 1983 से एक संकाय सदस्य के रूप में एएमयू से जुड़े हुए हैं। उन्हें 1991 में मगध विश्वविद्यालय, बोधगया और 2002 में एमजेपी रोहिलखंड विश्वविद्यालय, बरेली द्वारा दो डी.लिट डिग्री से सम्मानित किया गया था। उन्हें यूजीसी रिसर्च अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। था।
प्रोफेसर नज़ीर 10 पुस्तकों के लेखक और उर्दू से हिंदी में एक पुस्तक के सह-अनुवादक हैं। उनके विभिन्न प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में 101 से अधिक शोध पत्र और लगभग 17 लेख प्रकाशित हुए हैं
प्रोफेसर नज़ीर को कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों और सम्मानों से सम्मानित किया गया है, जिनमें नटाली पुरस्कार (2005-6), प्रवासी भारतीय महाकवि हरि शंकर आदेश साहित्य सिंधु सम्मान (2011), वार्षिक अखिल भारतीय निबंध प्रतियोगिता में नागरी लिपि परिषद पुरस्कार, अनुसंधान समूह शामिल हैं। छह बार यानी 1987, 88, 92, 94, 99 और 2000 में अब्दुल रहीम खानखाना सम्मान (2000), हिंदी रत्न सम्मान (2001), वरिष्ठ राष्ट्रीय प्रतिभा सम्मान (2010), गोस्वामी तुलसीदास समर्पण सम्मान, विश्व विद्या सितारा सम्मान, डॉ. .महेंद्र सागर प्रचंडीय स्मृति साहित्य वारिधि सम्मान, और विश्व हिंदी सेवी सम्मान शामिल है।

Tags:

About The Author

Latest News

महापुरूषों की प्रतिमाओं, पार्को के लिये बजट निर्धारण की मांग, सौंपा ज्ञापन महापुरूषों की प्रतिमाओं, पार्को के लिये बजट निर्धारण की मांग, सौंपा ज्ञापन
बस्ती - आल इण्डिया रियूनियन ट्रस्ट के अध्यक्ष एडवोकेट विक्रम गौतम ने मंगलवार को ट्रस्ट पदाधिकारियों के साथ जिलाधिकारी के...
आईआईटी में चयन होने पर स्नेहिल को एडी बेसिक, बीएसए ने किया सम्मानित
निःशुक्ल विद्युतचालित चाक मशीन के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह
मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए करे आवेदन - पी.एन.सिंह
डाक विभाग के मण्डलीय मेले में दिया कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी
गला काटकर हत्या मामले में दोषियों के गिरफ्तारी की मांग,आई.जी. तक पहुंचा मामला
पतंजलि का योग प्रोटोकाल 19 जून से किसान डिग्री कॉलेज बस्ती में - ओम प्रकाश आर्य