सीतारमण ने कहा- पीएम मुद्रा योजना के तहत महिलाओं को पहली प्राथमिकता

सीतारमण ने कहा- पीएम मुद्रा योजना के तहत महिलाओं को पहली प्राथमिकता

नई दिल्ली/रामेश्वरम। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि लाभार्थियों को वित्तीय सहायता देने वाली 'प्रधानमंत्री मुद्रा योजना' (पीएमएमवाई) के तहत महिला उद्यमियों को पहली प्राथमिकता दी जाती है। इसे खासकर महिला उद्यमियों को सशक्त बनाने के लिए बैंकों के माध्यम से ऋण प्रदान करने के लिए शुरू किया गया था। वित्त मंत्री ने रविवार को यहां ‘पीएम स्वनिधि से समृद्धि’ कार्यक्रम के तहत लाभार्थियों को मंजूरी पत्र वितरित करते हुए यह बात कही। सीतारमण ने कहा कि नगर पालिकाओं के अधिकारियों को शामिल नहीं किए गए फुटपाथ पर बेचने वालों की पहचान करनी चाहिए, उन्हें इस योजना का लाभ उठाने में मदद करनी चाहिए। दरअसल स्वनिधि से समृद्धि कार्यक्रम पीएम-स्वनिधि योजना का एक अतिरिक्त घटक है।

सीतारमण ने तमिलनाडु के विरुधुनगर में पीएम स्वनिधि आउटरीच कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जो महिलाएं छोटे व्यवसाय चला रही हैं या व्यवसाय शुरू करने में रुचि रखती हैं। वे बैंक से संपर्क कर सकती हैं। पीएम मुद्रा योजना योजना से ऋण लेकर अपना काम शुरू कर सकती हैं। इस योजना के माध्यम से लाभ पाने वाले 100 लोगों में से 60 महिलाएं होंगी। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना आठ अप्रैल, 2015 को शुरू की गई थी। ये भारत सरकार की एक प्रमुख योजना है। यह योजना विनिर्माण, प्रसंस्करण, व्यापार या सेवा क्षेत्र में गैर-कृषि क्षेत्र में लगे आय सृजित करने वाले सूक्ष्म उद्यमों को 10 लाख रुपये तक के सूक्ष्म ऋण/ऋण की सुविधा प्रदान करती है।

Tags:

About The Author

Latest News