एसएसपी ने किया दोहरे हत्याकांड का खुलासा, दो शातिर गिरफ्तार

हत्यारे एसबीआई मैन ब्रांच रुडकी में देने वाले थे बड़ी लूट को अंजाम

एसएसपी ने किया दोहरे हत्याकांड का खुलासा, दो शातिर गिरफ्तार

रुड़की (देशराज पाल)। एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोभाल ने मंगलौर कोतवाली क्षेत्र में हुए दोहरे हत्याकांड का आज सिविल लाइन कोतवाली रुड़की में खुलासा किया। हत्याकांड में पकड़े गए हत्यारे रुड़की की एसबीआई मैन ब्रांच में देने वाले थे बड़ी लूट को अंजाम। पकड़े गए हत्यारो से हत्याकांड में शामिल हथियार एवं लूट की घटना को अंजाम देने के लिए खरीदे गए उपकरण बरामद किए गए हैं।

बृहस्पतिवार दोपहर सिविल लाइन कोतवाली रुड़की में एसएसपी ने दोहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मोहम्मद आलम निवासी लंढौरा कोतवाली मंगलौर ने स्वयं के भाई साकिब कि अभियुक्त उज्जवल व आदेश द्वारा हत्या करने के संबंध में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस में तहरीर के आधार पर मामले को गंभीर लेते हुए मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू की। पुलिस मामले के खुलासे के लिए प्रयास में जुटी ही थी कि इसी दौरान पुलिस को आसफनगर के पास से गिरफ्तार किये गये और उनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त आला कत्ल बरामद हुए। अभियुक्तगण शातिर किस्म के अपराधी है जिनका पूर्व में भी आपराधिक इतिहास रहा है। अभियुक्तो से पूछताछ करने पर चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। पुलिस पूछताछ में पता चला कि अभियुक्त उज्जवल और आदेश जो कि वर्तमान समय में नगला इमरती में किराए के मकान में रहते थे। अभियुक्तों द्वारा मृतक साकिब पुत्र अफजल निवासी मातावाला हसन बाग लंढौरा को साथ लेकर बैंक लूटने की योजना बना रहे थे। बैंक लूटने में साकिब द्वारा साथ न देने के करण ही साकिब की हत्या की गई। उक्त संबंध में कोतवाली मंगलौर पर ही शिवम निवासी बाबरी उत्तर प्रदेश द्वारा स्वयं के पिता नेत्रपाल 56 वर्ष की ट्रैक्टर ट्राली में गन्ना ले जाते समय बिजौली बाईपास पर गोली मारकर हत्या करने के संबंध में भी धारा 302 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया था। पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि हम बच्चा जेल हरिद्वार में साकिब कोतवाली मंगलौर से बलात्कार उज्जवल हत्या के प्रयास तथा आदेश हत्या के मामले में निरुद्ध थे। हमारी एक दूसरे से जान पहचान वहीं पर हुई और दोस्ती हो गई। इसी बीच हमारी जमानत होने पर हमें जानकारी हुई कि सिविल लाइन रुड़की में एसबीआई ब्रांच में लगभग 100 करोड रुपए हर समय उपलब्ध रहता है। इस बीच हमारे द्वारा बैंक लूटने की योजना बनाई गई और लूट करने के उपकरण ऑनलाइन खरीदे गए ताकि किसी को कोई शक ना हो। 25 नवंबर की रात्रि जब हम आदेश और उज्जवल ढंडेरा से लंढौरा की तरफ जा रहे थे तो बिजौली बाईपास पर एक ट्रैक्टर ट्राली से हमारी मोटरसाइकिल टकरा गई जिससे हम नीचे गिर गए। इस पर हमने ट्रैक्टर ट्राली चालक को रुकने को कहा लेकिन वह नहीं रुका इसके बाद उसका पीछा कर उसके सिर में पीछे से उज्जवल ने गोली मारकर हत्या कर दी। इसकी जानकारी जब साकिब को लगी तो उसने बैंक लूट में शामिल होने से मना कर दिया। साकिब द्वारा पुलिस को हत्या और बैंक लूट की जानकारी पुलिस को ना दे दें। इसी डर से उन्होंने उसकी भी गोली मार कर हत्या कर दी। एसएसपी हत्यारोपी का नाम उज्जवल पुत्र सवेंद्र निवासी शिवाजी कॉलोनी ढंडेरा कोतवाली रुड़की दूसरे हत्यारे का नाम आदेश पुत्र रूपचंद निवासी नगला इमरती कोतवाली रुड़की बताया है। पकड़े गए हत्यारो से दो तमंचा शाहिद बैंक लूट करने के लिए खरीदे गए हाइड्रोलिक कटर, आयरन आरी, हेड पावर पुलर, टूल, टॉर्च दो, बुलेट कटर, हथोड़ा, तीन ब्लेड, आदि लूट में प्रयुक्त होने वाली उपकरण बरामद किए। हत्यारो को पकड़ने वाली पुलिस टीम में मंगलौर कोतवाली प्रभारी प्रदीप बिष्ट, धर्मेंद्र राठी, पुष्पेंद्र सिंह, हाकम सिंह, रघुवीर सिंह, कांस्टेबल विनोद बर्थवाल, मनीष, अरुण, राजेश देवरानी, दिनेश शर्मा, दिलबर सिंह नेगी, सुरेश रमोला, अशोक कुमार, कपिल, रविंद्र खत्री, राहुल नेगी महिपाल नितिन शामिल रहे। एसएसपी ने टीम को अपनी ओर से ढाई हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News