चीन के युद्ध में नेफा वॉर्डर पर चीन के सेना को पटकनी देने में अग्रणी भूमिका निभाने वाले सुखपुर के प्रथम फौजी को श्रद्धांजलि 

चीन के युद्ध में नेफा वॉर्डर पर चीन के सेना को पटकनी देने में अग्रणी भूमिका निभाने वाले सुखपुर के प्रथम फौजी को श्रद्धांजलि 

सुपौल: दिनांक 18/11/2023 को अपराह्न 03वजे सुखपुर गांव के प्रथम फौजी स्व गंगाधर झा के संपिडन के अवसर पर सुखपुर के सभी रिटायर्ड फौजी एवं आम ग्रामीण जनों ने उनके फोटो पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित किये।
स्व गंगाधर झा पिता स्व दुखमोचन झा का जन्म स्थान पंचगछिया था। उनका जन्म  25 जनवरी 1938ईस्वी को हुआ था। सन 1954 ईस्वी के ज्येष्ठ मास में विवाह सुखपुर सोल्हनी पंचायत के स्व कपलेश्वर झा की एक मात्र पुत्री देवता देवी के साथ हुआ। विवाहोपरान्त गंगाधर झा सुखपुर में ही रहने लगे। सुखपुर के वातावरण और सुखपुर के तत्कालीन लोगों की राष्ट्रीय भक्ति ने इतना प्रभावित किया कि पढ़ाई बीच में ही छोड़कर भारतीय थल सेना में 1958 ईस्वी में सुखपुर के प्रथम आर्मी के रूप में योगदान कर देश की रक्षा का सौगंध ले लिये। 1959 से लेकर 1982 ईस्वी तक सेना में रहकर भारत माता की सेवा करते रहे। अपनी सेवा काल में गंगाधर झा 1965 में चीन के युद्ध में नेफा वॉर्डर पर चीन के सेना को पटकनी देने में अग्रणी भूमिका निभाया था। पुन: 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में पाकिस्तान को पटकनी देते हुए पूर्वी पाकिस्तान को बांग्लादेश में तब्दील करने में आम भूमिका निभाया था। इस प्रकार राष्ट्र की सेवा करते हुए सन 1982 ईस्वी में स्व गंगाधर झा सेवानिवृत हुए ।सेवानिवृत्ति के उपरांत 1982 से लेकर जब तक घूमने फिरने की स्थिति में रहे गांव के नौजवानों को सदमार्ग दिखाते हुए समाज सेवा में अग्रणी भूमिका निभाते रहे ।
 
स्वर्गीय गंगाधर झा थल सेवा में रहते हुए सेवानिवृत्ति के समय तक  ईएमई (इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल इंजीनियर ) के पद पर कार्यरत रहे।  स्वर्गीय गंगाधर झा के मरणोपरांत उनके संपीडन के अवसर पर आज सुखपुर के सभी रिटायर्ड फौजी एवं सुखपुर सोल्हनी ग्राम पंचायत के कई समाजसेवी और गणमान्य लोगों ने उनके तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें सैल्यूट देते हुए श्रद्धांजलि अर्पित किया । इस अवसर पर उनके राष्ट्र के प्रति योगदान और समाज के प्रति योगदान को याद करते हुए रिटायर्ड फौजी देवेंद्र चंद्र दिनेश चंद्र विष्णुदेव महतो, अनिल चंद के अलावा समाजसेवी अरुण कुमार झा मुन्ना, प्रेम नाथ झा ,राघव झा, सुनील झा , बिहारी झा , ललित कामत, ध्रुव कुमार सिंह , रघुवंश चन्द्रवंशी,शत्रुघ्न चौधरी पंचगछिया के चीतेश्वर झा उर्फ पप्पू,महादेव झा, चिरंजीव झा , करणपुर के उग्र नारायण ठाकुर , पुरुषोत्तमपुर के अमरेंद्र मिश्र ऊर्फ सिंटु, बाबू साहब और रितेश झा जी के अलावे कई अन्य गणमान्य लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके गुणधर्म स्वभाव का चर्चा कर गमगीन हो गए। स्वर्गीय गंगाधर झा के ज्येष्ठ पुत्र रामचन्द्र झा  आर्मी एविएशन के पद से सेवानिवृत्त है। द्वितीय पुत्र श्याम झा शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं और तृतीय पुत्र मनोज झा कृषि कार्य से जुड़े हुए हैं। उनके तीनों पुत्रियां भी अपने-अपने ससुराल में  सूखी हैं।
 
 

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News

हिस्ट्रीशीटर बदमाश का शॉर्ट एनकाउंटर, घर में घुसकर युवती से किया था दुष्कर्म हिस्ट्रीशीटर बदमाश का शॉर्ट एनकाउंटर, घर में घुसकर युवती से किया था दुष्कर्म
ग्वालियर। शहर के इंदरगंज थाना क्षेत्र में पुलिस ने मंगलवार सुबह एक हिस्ट्रीशीटर को शॉर्ट एनकाउंटर में पकड़ा है। वह...
मध्य प्रदेश के 31 जिलों के 66 नर्सिंग कॉलेज होंगे बंद, मुख्यमंत्री मोहन यादव ने दिए निर्देश
 युवक के साथ अमानवीयता, जूतों की माला और महिलाओं के कपड़े पहनाकर गांव में घुमाया
भ्रष्टाचार के आरोपों में मुख्य कार्यपालक अधिकारी निलंबित
पारा 46 के पार, बढ़ते तापमान में बढ़ाई चिंता
श्रद्धालुओं से भरी पिकअप अनियंत्रित होकर पलटा, 18 घायल
अधिकांश शहर लू की चपेट में, 42 जिलों में भीषण गर्मी का अलर्ट