कछार से भटक कर बस्ती में पहुंचे हिरन को कुत्तों ने नोंचा, ग्रामीणों ने बचायी जान

कछार से भटक कर बस्ती में पहुंचे हिरन को कुत्तों ने नोंचा, ग्रामीणों ने बचायी जान

लालगंज, प्रतापगढ़। आठ माह के हिरन को गांव के आवारा कुत्तों ने नोंचकर लहूलुहान कर दिया। ग्रामीणों ने कुत्तों से उसकी जान बचाई और वन विभाग को सूचना दी। वन विभाग घायल हिरन को कब्जे में लेकर उपचार करवा रहा है। नदी के कछारों में पाये जाने वाले हिरन कोे गांव में पहुंचने पर लोगों में कौतूहल देखा गया।लालगंज कोतवाली के असैनापुर गावं के समीप सई नदी के किनारे कछारों में पाढ़ा प्रजाति के हिरन पाये जाते हैं। बुधवार को आठ माह का नर पाढ़ा भटकते हुए बस्ती में पहुंच गया। हिरन के बस्ती में पहुंचते ही आवारा कुत्ते उसे नोंचने लगे। कुत्तों के नोंचने से हिरन लहूलुहान हो गया।

यह देख ग्रामीणों ने कुत्तों से हिरन की जान बचायी और वन विभाग को सूचना दी। सूचना पर वन दरोगा रमेश मिश्र अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और गांव में बंधे घायल हिरन को उपचार के लिए वन प्रभाग कार्यालय लाये। यहां पशु चिकित्सक द्वारा लहूलुहान हिरन का उपचार चल रहा है। कुत्तों के हमले में हिरन का दोनों पैर व पूंछ का कुछ हिस्सा जख्मी हुआ है। हिरन के गांव में पहुंचने पर ग्रामीणों के बीच कौतूहल देखा गया । लालगंज के वन क्षेत्राधिकारी एसपी मिश्र ने बताया कि हिरन की हालत खतरे से बाहर है। उन्होनें बताया कि पाढ़ा प्रजाति का यह हिरन नदी किनारे जंगलों में पाया जाता है। वहीं से भटक कर यह बस्ती में पहुंचा था।

About The Author

Latest News