भूटान के दल ने की छतरपुर के राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य एवं स्कूल हेल्थ कार्यक्रम की सराहना

 भूटान का प्रतिनिधिमंडल दो दिवसीय एक्सपोजर विजिट पर पहुंचा छतरपुर

भूटान के दल ने की छतरपुर के राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य एवं स्कूल हेल्थ कार्यक्रम की सराहना

छतरपुर। भारत के पड़ोसी देश भूटान का एक 15 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मध्यप्रदेश के भम्रण पर है। प्रतिनिधिमंडल के सदस्य बुधवार को दो दिवसीय विजिट पर छतरपुर पहुंचे। प्रतिनिधिमंडल ने जिले में राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं आयुष्मान भारत उमंग स्कूल कार्यक्रम के तहत जिले के चार ग्रामों धमौरा, भेलनपुरवा, चितरही और बृजपुरा का भम्रण किया, जहां साथिया ब्रिगेड मीटिंग कार्य, आशाओं के कार्य का अवलोकन किया। उन्होंने हायर सेकेण्डरी स्कूल निवारी और सीएम राइज मॉडल स्कूल छतरपुर का भम्रण किया। स्कूलों में रूटीन विषय के अलावा स्वास्थ्य, जेंडर आधारित एवं नशामुक्ति शिक्षा की जानकारी देने के लिए एक-एक महिला पुरुष शिक्षक नोडल बनाए गए हैं, जिन्हें यूएनएफपीए द्वारा ट्रेंड किया गया है। जिसके बारे में प्रतिनिधिमंडल ने जानकारी ली। भ्रमण के दौरान यूएनएफपीए भूटान के प्रतिनिधिमंडल ने छतरपुर जिले में राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं आयुष्मान भारत उमंग स्कूल कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए छतरपुर जिले की सराहना की।

इसके पश्चात प्रतिनिधिमंडल की कलेक्टर संदीप जी.आर. की अध्यक्षता में संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक हुई। कलेक्टर ने बैठक में बताया कि जिले में यूएनएफपीए के तहत गर्भवती महिलाओं के सुरक्षित प्रसव के लिए विकासखण्ड स्तर पर अल्ट्रासाउण्ड स्कैनिंग जांच की सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। पोषण में सुधार के लिए कुपोषित बच्चों को सामान्य बच्चों की श्रेणी में लाने के लिए आठ पोषण पुनर्वास केन्द्र संचालित किये गये हैं। इसी तरह बच्चों के पोषण सुधार के लिए मुनगा के उपयोग को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसकी पत्तियां और फलिया गुणकारी होती हैं। इनसे पोषण में सुधार होता है। जिले में मुनगा के 15 हजार पौधे रोपे गये हैं। आंगनवाड़ियों के माध्यम से बच्चों को पोषण आहार दिया जा रहा है। सुरक्षित प्रसव के लिए संबंधित ग्रामों में महिलाओं के लिए प्रेग्नेंट क्लब बनाये गये हैं, ताकि नवीन माताओं को प्रसव से संबंधित सही जानकारी मिल सके। इसी तरह मेन्स क्लब भी बनाये गये हैं।

कलेक्टर ने बताया कि जननी सुरक्षा एक्सप्रेस गर्भवती महिलाओं के लिए समर्पित एक एम्बुलेंस चलाई जाती है। इसके अलावा जल जीवन मिशन के तहत हर-घर नल से पानी उपलब्ध कराने की योजना क्रियान्वित है जिसमें महिलाओं के स्किल डेवलपमेंट के लिए इलेक्ट्रीशियन एवं प्लंबर की ट्रेनिंग दी गई है। उन्होंने एनआरसी, एसएनसीयू, पीआईसीयू के सफल संचालन की भी जानकारी दी। छतरपुर आए भूटान के प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों को कलेक्टर ने स्मृति चिन्ह के रूप में महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा भेंट की।

भूटान प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों द्वारा जिला अस्पताल का भी भ्रमण किया गया, जहां उनके द्वारा उमंग किशोर स्वास्थ्य केन्द्र, बच्चा एवं महिला वार्ड सहित विभिन्न वार्डों, लेबर रूम, ओटी एवं एनआरसी का भी निरीक्षण किया गया और बेहतर सुविधाएं होने पर सराहना की गई। सदस्यों द्वारा जिले में स्वास्थ्य एवं शिक्षा संबंधी हो रहे बेहतर कार्यों का फीडबैक उनके देश भूटान में दिया जाएगा।

बैठक में सहायक कलेक्टर कार्तिकेय जायसवाल, यूएनएफपीए मप्र प्रमुख डॉ सुनील थॉमस, आरकेएसके राज्य कार्यालय से उप संचालक डॉ उपेंन्द्र धोटे, कार्यक्रम अधिकारी अनुराग सोनवाल्कर, प्रतिनिधि आरकेएसके विजय तिवारी, सीएमएचओ डॉ लखन तिवारी, डीईओ शिक्षा विभाग एम.के. कोटार्य, आरकेएसके जिला समन्वयक दीपेश नायक, डीपीएम राजेन्द्र खरे सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News

धर्म और जाति के आधार पर अमेठी को बांटने आयेंगे राहुल गांधी, रहना होगा सचेत : स्मृति धर्म और जाति के आधार पर अमेठी को बांटने आयेंगे राहुल गांधी, रहना होगा सचेत : स्मृति
अमेठी। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की उम्मीदवार एवं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को जनसंपर्क करते हुए राहुल गांधी पर...
सूदखोरी से परेशान भाइयों ने मारी थी रालोद नेता को गोली, दोनों गिरफ्तार
बाराबंकी के मसौली में रेलवे ट्रैक के किनारे मिले प्रेमी युगल का शव
गोरखनाथ मंदिर में 21अप्रैल को होगी हनुमान जी के नव्य विग्रह की प्रतिष्ठा
चाइल्ड ट्रैफिकिंग मामले में सीआईडी डीजी हाई कोर्ट में हुए हाजिर
मतदाता सूची में 65 विद्यार्थियों ने दर्ज कराया अपना नाम
रिलीव करने के लिए मांगी 50 हजार, सीबीआई ने रेल पथ निरीक्षक को दबोचा