यूरिया मिश्रित विषाक्त पानी पीने से 29 बकरियों और एक गोवंश की मौत, अन्य कई गंभीर

यूरिया मिश्रित विषाक्त पानी पीने से 29 बकरियों और एक गोवंश की मौत, अन्य कई गंभीर

लालगंज/रायबरेली। कोतवाली क्षेत्र के फतेहपुर रोड पर दो सड़का स्थित सूर्यवंशी ढाबा के निकट सोमवार को सड़क किनारे फैले यूरिया मिश्रित विषाक्त पानी पी लेने के कारण करीब 29 बकरियां और एक गोवंश की मौत हो गई। जिससे आसपास के क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले में जरूरी जांच पड़ताल शुरू कर दी है। शीतलाबक्स का पुरवा गांव निवासी रामखेलावन पुत्र गंगाराम सड़क किनारे जंगल में बकरियां चरा रहा था। तभी बकरियां चरते चरते सड़क किनारे पहुंच गई। जहां वाहनों में डालने जाने वाले यूरिया पंप की धुलाई के बाद उसका पानी वहां फैला हुआ था। भीषण गर्मी में बकरियां पानी देखकर टूट पड़ी और यूरिया पंप के पास फैले पानी को पी लिया। थोड़ी ही देर में बकरियां ने दम तोड़ना शुरू कर दिया। पीड़ित ने बताया कि 40 बकरियां ने विषाक्त पानी पिया दिन में 29 बकरियों की मौत हो गई, जबकि वहां पर घूम रहे आवारा सांड की भी पानी पीने से मौत हुई है। अन्य बकरियों को हालत गंभीर होने पर उनका इलाज किया जा रहा है। बकरियों की मौत से वहां ग्रामीणों का मजमा लग गया। वही घटना के बाद यूरिया पंप के कर्मचारी मौके से फरार हो गए। सूचना पर पहुंचे सीओ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि 29 बकरियां और एक गोवंश की मौत हुई है। मृत पशुओं का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। घटना के संबंध में पीड़ित ने तहरीर दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

Tags:

About The Author

Latest News

डीएम और एसपी ने थाना समाधान दिवस पर समस्याओं के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण का दिया निर्देश  डीएम और एसपी ने थाना समाधान दिवस पर समस्याओं के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण का दिया निर्देश
बस्ती - आज शनिवार को जिलाधिकारी बस्ती रवीश गुप्ता व पुलिस अधीक्षक बस्ती गोपाल कृष्ण चौधरी द्वारा थाना नगर व...
कोतवाली सदर में डीएम-एसपी ने सुनी समस्याएं, दिए निस्तारण के निर्देश
भारत विकास परिषद मनवर शाखा की बैठक मंें पौधरोपण का निर्णय
ऑन लाइन हाजिरी के विरोध में 15 संगठनों ने बनाया प्रदेश स्तरीय संयुक्त मोर्चा
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के जागरूकता अभियान के तहत किया गया टीबी स्क्रीनिंग का आयोजन
विभागीय अधिकारी समस्या से वाकिफ, झाड़ रहे पल्ला
खून से लथपथ बालिका पहुची घर, माँ को सुनाई आपबीती