बिहार के लोगों को गर्मी से मिलेगी राहत, होगी झमाझम बारिश

बिहार के लोगों को गर्मी से मिलेगी राहत, होगी झमाझम बारिश

पटनाः बिहार में मानसून को लेकर अभी से असर दिखने लगा है. मौसम विभाग ने 2 जून को बारिश की संभावना जतायी है. इसमें बिहार के सीमांचल, उत्तर बिहार सहित कई जिलों में बारिश को लेकर पूर्वानुमान जारी किया है. इसको लेकर येलो अलर्ट भी जारी किया गया है.

इन जिलों में बारिश की संभावना
मौसम विभाग के अनुसार राज्य में दो जून को समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, सहरसा, पूर्वी और पश्चिम चंपारण, मधेपुरा, पूर्णिया, कटिहार, सीतामढ़ी, शिवहर, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज आदि जिलों के कुछ हिस्सों में 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी. हवा के साथ गर्जन और बारिश की संभावना जतायी गई है.

बारिश के बावजूद पड़ेगी गर्मी
बता दें कि एक जून को भी राज्य के कई हिस्सों में तेज हवा के साथ बारिश हुई इसके बावजूद तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई. 2 जून को भी कई जिलों में हल्की बारिश तो कई जिलों में गर्मी रहेगी. रविवार का अधिकतम तापमान 32-46 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है. ऐसे में लोगों को सर्तक रहने की जरूरत है.

बिहार में इस दिन से मिलेगी राहत
हालांकि जून के दूसरे सप्ताह से लोगों को राहत मिलने लगेगी. IMD की रिपोर्ट के अनुसार बिहार में 15 जून के आसपास मानसून आ सकता है. इससे राज्य में तेज हवा के साथ-साथ झमाझम बारिश हो सकती है.

क्या कहती है रिपोर्टः
MD की रिपोर्ट के मुताबिक 1 जून के आसपास साउथ इंडिया में मानसून प्रवेश करेगा. इसके बाद 5 जून तक कर्नाटक, गोवा, असम, त्रिपुरा और आंध्र प्रदेश में मानसून प्रवेश करेगा. 10 जून तक सिक्किम, तेलांगना और महाराष्ट्र, 12 जून तक झारखंद, छत्तीसगढ़, बिहार, ओडिशा, गुजरात, मध्य प्रदेश, 20 जून को उत्तर प्रदेश, हिमाचल, लद्दाख, उत्तराखंड और 30 जून तक दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में मानसून पहुंच जाएगा.

15 जून तक चेतावनी
बता दें कि बिहार में बढ़ती गर्मी के कारण 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. 112 मौत की बात सामने आ रही है. 300 से ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती हैं. बढ़ती गर्मी को लेकर मौसम विभाग ने 15 जून तक लोगों को सर्तक रहने के लिए चेतावनी जारी की है.

Tags:

About The Author

Tarunmitra Picture

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से स्व0 समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज पांच प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तराखण्ड) तक अपनी पहुंच बना चुका है। 

Latest News