'पंचायत-3' फेम एक्ट्रेस का खुलासा- सहायक भूमिकाओं वाले लोगों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार

'पंचायत-3' फेम एक्ट्रेस का खुलासा- सहायक भूमिकाओं वाले लोगों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार

अमेज़न प्राइम वीडियो की सीरीज़ ‘पंचायत’ के तीसरे सीज़न का फैंस बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। इस पंचायत फेम एक्ट्रेस सुनीता राजवार ने कला जगत में कलाकारों को मिलने वाले व्यवहार पर टिप्पणी की है। उन्होंने खुलासा किया है कि इंडस्ट्री में छोटे किरदार निभाने वाले कलाकारों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार किया जाता है। सुनीता ने कहा, “इंडस्ट्री आमतौर पर एक्टर्स को टाइपकास्ट कर देती है, क्योंकि ऐसे में मेकर्स के लिए उन्हें स्लॉट करना आसान होता है और कई कलाकार इसे स्वीकार करते हैं, क्योंकि वे अपना गुजारा करना चाहते हैं। इसलिए, वो अपने रोल को रिजेक्ट करने का रिस्क नहीं ले सकते हैं। यह निश्चित रूप से दर्दनाक है लेकिन यही सच्ची स्थिति है।”

वह आगे कहती हैं, “इंडस्ट्री में लीड रोल प्ले करने वाले एक्टर्स को सारी सुविधाएं दी जाती हैं। उनकी सुविधा के हिसाब से कॉल टाइम दिया जाता है, लेकिन सपोर्टिंग रोल प्ले करने वालों को ज्यादा सुविधाएं नहीं दी जातीं। मैं समझती हूं कि बड़े एक्टर्स को महीने के 30 दिन शूट करना होता है। कभी कभी उन्हें हफ्ते के सात दिन और 24 घंटों शूट करना पड़ता है, लेकिन सेट पर होने वाला भेदभाव अपमानजनक होता है।” इस सारे अनुभव के बाद सुनीता ने इंडस्ट्री छोड़ने का फैसला किया। सुनीता जल्द ही पंचायत 3 में नजर आएंगी। इसमें वह क्रांतिदेवी का किरदार निभाएंगी। यह सीरीज़ 28 मई को अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ होगी।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News

मध्‍यप्रदेश के 20 जिलों में आज तेज बारिश की संभावना, बड़ा तालाब में बढ़ा जलस्‍तर मध्‍यप्रदेश के 20 जिलों में आज तेज बारिश की संभावना, बड़ा तालाब में बढ़ा जलस्‍तर
भोपाल। राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई जिलों में बारिश का सिलसिला जारी है। भोपाल शहर में रविवार सुबह फुहारें...
 21 जुलाई के बाद स्मार्ट मीटर होंगे प्रीपेड
मुंबई में भारी बारिश से कई इलाकों में जलभराव, पश्चिम रेलवे यातायात बाधित
 मुख्यमंत्री साय आज जशपुर जिला के दाैरे पर
नेपाल बस दुर्घटना : तीन दिनों में सिर्फ 5 शव बरामद, हादसे के बाद कुल 65 लोग हुए थे लापता
नेपाल से प्रतिदिन 800 मेगावाट से अधिक बिजली खरीद रहा भारत
खुद के सम्मान का मार्ग प्रशस्त करना हो तो दूसरों को सम्मान दीजिए : सोनल नागर