सामाजिक सहभागिता से पूरा होगा जल संरक्षण का लक्ष्य : कलेक्टर

21 मई से 15 जून तक मनाया जाएगा जल जगार उत्सव

सामाजिक सहभागिता से पूरा होगा जल संरक्षण का लक्ष्य : कलेक्टर

धमतरी।दिनों-दिन गिरते भू जल स्तर में सुधार एवं भू जल स्तर को बढ़ाने को लेकर अब चहुंओर चिंता होने लगी है। वर्षाकाल में जिले में हरियाली की चादर बिछाने, वर्षा जल संरक्षण के लिए रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाने सहित अन्य रचनात्मक कार्य में सहयोग के लिए जिला प्रशासन ने सामुदायिक सहभागिता पर जोर दिया है। जिले के सर्वांगीण विकास के लिए सामाजिक संस्थाओं, स्वयंसेवी संस्था, समाज सेवी सहित अन्य महत्वपूर्ण व्यक्तियों को एक साथ जोड़कर रचनात्मक, सहयोगात्मक कार्य के लिए ’साथी’ मंच तैयार किया गया है। कलेक्टर नम्रता गांधी ने शनिवार की देर शाम को बैठक में कहा कि आज देश के कई राज्यों सहित धमतरी जिले में पानी की समस्या विकराल रूप ले रही है। अब समय आ गया है कि हम सब इस दिशा में जागरूक बनें और अन्य लोगों को भी जागरूक करें। उन्होंने बताया कि जिले में 21 मई से 15 जून तक जल जगार उत्सव मनाया जायेगा, जिसमें जिले के विभिन्न ग्रामों में जाकर ’नारी शक्ति से जलशक्ति कैच द रैन’ थीम पर जागरूकता लाई जाएगी। इसके तहत जिले के विभिन्न पंचायतों में गिरते भू जल स्तर में सुधार एवं ऐसे पंचायत जिनमें पानी की समस्या अथवा हैंडपंप पूरी तरह से सूख चुका है उन गांवों को चिन्हांकित किया जाएगा। साथ ही वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर एवं ग्राउंड वाटर रिचार्ज के लिए विभिन्न सरंचना बनाकर भू जल स्तर को बढ़ाने की ग्रामीणों को समझाईश दी जाएगी।उन्होंने सभी सामाजिक और स्वयं सेवी संस्थाओं से आग्रह किया कि वे जल संरक्षण की दिशा में पहल करते हुए कम से कम एक गांव में भू-जल स्तर में सुधार के लिए किए जा रहे कार्यों में अपनी सहभागिता दें। इस कार्य में जिला प्रशासन आपका पूरा सहयोग करेगा।

बैठक में नगर के चौक-चौराहों और बगीचों के सुंदरीकरण के लिए नगरनिगम द्वारा तैयार की कार्ययोजना का भी पावर प्वाईंट प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रदर्शित किया गया। साथ ही इन चौक-चौराहों और बगीचों के सुंदरीकरण को बचाए रखने के लिए सामाजिक संस्थाओं से अपील की गई कि वे इसकी देख-रेख और संचालित करने की जिम्मेदारी उठाएं। इसके साथ उन्होंने मानसून के पूर्व किए जा रहे पौधारोपण के तैयारियों की चर्चा की और इसमें भी संस्थाओं के सहयोग की अपेक्षा की। इसके अलावा बैठक में जल संरक्षण संबंधी प्रश्नोत्तरी आयोजित की गई, जिसमें विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। बैठक में सीईओ जिला पंचायत रोमा श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक आंजनेय वार्ष्णेय, वनमंडलाधिकारी श्रीकांत जाधव, आयुक्त नगरपालिक निगम विनय पोयाम, एसडीएम धमतरी डाॅ. विभोर अग्रवाल सहित विभिन्न सामाजिक एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

वर्षा जल संरक्षण के लिए घरों में अनिवार्य रूप से बनाए जाए रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम
कलेक्टर ने कहा कि आप सभी अपने घरों एवं मिल आदि में रूफटाप स्ट्रक्चर एवं रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से लगाएं और आसपास के लोगों को भी लगाने के लिए प्रेरित करें। इस अवसर पर उपस्थितों द्वारा जल बचाने के लिए शपथ भी ली। शपथ में कहा गया कि हम पानी बचाने और उसके सही इस्तेमाल, पानी की हर बूंद का ख्याल रखेंगे, ’’कैच द रेन’’ अभियान को बढ़ावा देंगे, पानी को अनमोल संपदा मानेंगे और इसका सही इस्तेमाल करेंगे., हम अपने परिवार, पड़ोसियों और अधिकारियों को भी पानी का सही इस्तेमाल करने और उसे बर्बाद न करने के लिए प्रेरित करेंगे, यह ग्रह हमारा है और हम ही इसे बचा सकते हैं और अपना भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं।

जल संरक्षण के प्रति जागरूक करने चलेबा अभियान
कलेक्टर ने बताया कि जिले में आयोजित होने वाले जल जगार कार्यक्रम में लोगों को जल संरक्षण संबंधी मोनो,लोगोयुक्त टोपी, टीशर्ट, पॉम्पलेट, मग, स्टीकर, कीरिंग इत्यादि के जरिए जागरूक किया जाएगा। आप सभी इन सामग्रियों का उपयोग कर अपने-अपने स्तर पर इस पुनीत कार्य में योगदान दे सकते हैं।


Tags:

About The Author

Latest News

तापसी पन्नू ने बताई अनंत अंबानी की शादी में न जाने की वजह तापसी पन्नू ने बताई अनंत अंबानी की शादी में न जाने की वजह
उद्योगपति मुकेश अंबानी के छोटे बेटे अनंत अंबानी राधिका मर्चेंट के साथ शादी के बंधन में बंध गए। इस वक्त...
मध्‍यप्रदेश के 20 जिलों में आज तेज बारिश की संभावना, बड़ा तालाब में बढ़ा जलस्‍तर
 21 जुलाई के बाद स्मार्ट मीटर होंगे प्रीपेड
मुंबई में भारी बारिश से कई इलाकों में जलभराव, पश्चिम रेलवे यातायात बाधित
 मुख्यमंत्री साय आज जशपुर जिला के दाैरे पर
नेपाल बस दुर्घटना : तीन दिनों में सिर्फ 5 शव बरामद, हादसे के बाद कुल 65 लोग हुए थे लापता
नेपाल से प्रतिदिन 800 मेगावाट से अधिक बिजली खरीद रहा भारत