दावत में पनीर देखकर मन ललचाए, सेहत हो सकती है खराब

-डेयरी प्लांट पर छापे मंे खुली पोल, पनीर प्लांट को कराया बंद

दावत में पनीर देखकर मन ललचाए, सेहत हो सकती है खराब

मथुरा। शादियों का सीजन है, आये दिन दावत का मौका मिल रहा है। दावतों में सब्जी से लेकर फ्राई चावल तक में खूब पनीर मिल रहा है। पनीर को देखकर खाने का मन भी कर आता है और लगता है सेहत के लिए ठीक रहेगा। लेकिन यह सही नहीं है, पनीर को खाने में सावधानी बरतें और संभव हो तो यह तय करने का प्रयास करें कि यह सेहत के लिए नुकसानदायक नहीं है।

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा मिलावटखोरों के विरुद्ध चला जा रहे अभियान के तहत कोसीकला क्षेत्र में नेशनल हाईवे पर स्थित सिंघल डेयरी प्लांट पर सहायक आयुक्त डॉ. गौरी शंकर के निर्देशन में छापा मार कार्रवाई की गई। कार्रवाई के दौरान टीम द्वारा पनीर प्लांट का सघन निरीक्षण करते हुए मिलावट की आशंका होने पर पनीर, दूध, क्रीम तथा परिसर में रखे हुऐ अपमिश्रक रिफाइंड पाम ऑयल का एक एक नमूना लिया गया।साथ ही लगभग 200 लीटर दूषित दूध को मौके पर नष्ट कराया गया। डेयरी संचालक मौके पर उपयुक्त खाद्य लाइसेंस प्रस्तुत न कर सका तथा परिसर में मानकों को ताक पर रखकर पनीर का निर्माण किया जा रहा था।

जिसको लेकर संचालक को नोटिस देते हुए पनीर प्लांट को बंद करने का निर्देश दिया गया है। कार्रवाई के दौरान टीम में मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी एसपी तिवारी तथा भरत सिंह, दलबीर सिंह, अरुण कुमार खाद्य सुरक्षा अधिकारी एवं ताराचंद धारिया खाद्य सहायक उपस्थित रहे।सभी डेयरी तथा पनीर संचालकों को निर्देशित किया जाता है कि परिसर में कोई भी अखाद्य पदार्थ तथा अपमिश्रक पदार्थ न रखें ।यदि किसी परिसर में ऐसे खाद्य पदार्थ पाए जाते हैं जिससे मिलावट की आसंका बढ़ती हो तो उनके लाइसेंस निरस्त किए जाएंगे।

Tags: Mathura

About The Author

Latest News