विक्की कौशल ने जीता दिल, प्रेरणादायक कहानी है 'सैम बहादुर'

विक्की कौशल ने जीता दिल, प्रेरणादायक कहानी है 'सैम बहादुर'

बॉलीवुड एक्टर विक्की कौशल की फिल्म 'सैम बहादुर' पिछले कुछ दिनों से चर्चा में है। मेघना गुलजार द्वारा निर्देशित यह फिल्म आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई। फिल्म में फिल्ड मार्शल सैम मानेकशॉ की कहानी दिखाई गई है, जिसकी शुरुआत बचपन से होती है। फिल्म की शुरुआत में सैम के माता-पिता बचपन में उसका नाम क्यों बदल देते हैं? यह दिखाया गया है। आइए जानते हैं आखिर क्या है फिल्म की कहानी।

फिल्म 'सैम बहादुर' की शुरुआत नाम बदलने से होती है। उसके पीछे का कारण यह है कि एक दिन-रात को उनके इलाके में चोरी हो जाती है। चोरी करने वाले चोर का नाम और बच्चे का नाम एक ही है। इसलिए माता-पिता बच्चे का नाम बदल देते हैं। अगले दृश्य में लड़का बड़ा हो गया है। एक सेना अधिकारी नए शामिल हुए लड़के का नाम पूछता है। फिर लड़का सैम कहता है और अंतिम नाम भूल जाता है। तभी दूसरा लड़का अपने ऑफिसर का नाम सैम बहादुर बताता है। ये नाम भारतीय सेना के इतिहास में लिखा गया।

फिल्म सैम बहादुर के जीवन के कई पहलुओं पर प्रकाश डालती है। कभी उनके जीवन के सुखद पलों को दिखाया जाता है तो कभी उन्हें कठिन परिस्थितियों का सामना करते हुए दिखाया जाता है। भारतीय सेना में अपने समय का प्रबंधन करने और अपने निजी जीवन को प्रबंधित करने के सैम के संघर्ष को निर्देशक ने फिल्म में सटीक रूप से चित्रित किया है। सैम मानेकशॉ को मेघना अपनी निर्देशकीय खूबियों से जीवंत कर जाती हैं, मगर उनके अलावा अन्य ऐतिहासिक किरदारों का चित्रण में वे कमजोर पड़ जाती हैं। फिल्म के कुछ दृश्यों से यह स्पष्ट हो जाता है कि सैम मानेकशॉ दूसरों से अलग और सर्वश्रेष्ठ क्यों थे।

फिल्म में विक्की कौशल ने सैम मानेकशॉ की भूमिका निभाई है। विक्की की परफॉर्मेंस देखने लायक है। 'सरदार उधम', 'राजी' और 'मसान' के बाद विक्की की फिल्म सैम बहादुर सुर्खियों में नजर आ रही है। फिल्म में विक्की सैम के चलने और बात करने के तरीके का बखूबी अनुकरण करते हैं। अभिनेत्री सान्या मल्होत्रा सैम मानेकशॉ की पत्नी की भूमिका निभा रही हैं। उनकी भूमिका फिल्म में एक भावनात्मक ट्रैक बनाती है। साथ ही इंदिरा गांधी का किरदार एक्ट्रेस फातिमा सना शेख ने निभाया है। उनकी परफॉर्मेंस देखने लायक है। वहीं दूसरी तरफ मोहम्मद जीशान अय्यूब का किरदार निभा रहे एक्टर का अजीब सा मेकअप है जो फिल्म का डाउनफॉल बनता नजर आ रहा है।

फिल्म के गाने और बैकग्राउंड म्यूजिक थोड़ा फीके लगते हैं। क्योंकि दर्शकों को शंकर-एहसान लॉय से काफी उम्मीदें थीं। उन्होंने मेघना गुलज़ार के साथ राजी में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। फिल्म में कई जगह वास्तविक फुटेज का इस्तेमाल किया गया है। कुछ जगहों पर फिल्म आगे बढ़ती दिख रही है। कुछ जगहों पर यह उबाऊ लगने लगता है। इस फिल्म को आप अपने परिवार के साथ देख सकते हैं। फिल्म आपको निराश नहीं करेगी। कुछ जगहों पर दर्शक फिल्म देखकर हंसते हैं तो कुछ जगहों पर देश को गर्व महसूस होता है। अगर आप भारतीय सेना के इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं तो फिल्म 'सैम बहादुर' देखना सही विकल्प है।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News

पुलिस मुठभेड़ में दो बदमाश घायल, तीन गिरफ्तार पुलिस मुठभेड़ में दो बदमाश घायल, तीन गिरफ्तार
गिरफ्तार बदमाशों ने तीन दिन पूर्व बैंक संचालक लूट की घटना को दिया था अंजाम
विद्युत कटौती से परेशान लोग सड़क पर उतरे, विभाग ने संभाला
मुख्यमंत्री योगी ने विनायक दामोदर सावरकर को श्रद्धांजलि दी
पत्रकारिता में निष्पक्षता के साथ पारदर्शिता होनी चाहिए : महेन्द्रनाथ
दिल्ली से यूपी में आकर चेन स्नेचिंग करने वाला शातिर लुटेरा पुलिस मुठभेड़ में घायल
कुएं में गिरे युवक की मौत, कार्रवाई में जुटी पुलिस
हिस्ट्रीशीटर बदमाश का शॉर्ट एनकाउंटर, घर में घुसकर युवती से किया था दुष्कर्म