बाजारों में अतिक्रमण किसी भी सूरत में नहीं होगा बर्दाश्त:आरके सकलानी

दर्जनों से ज्यादा दुकानदारों के कांटे चालान

बाजारों में अतिक्रमण किसी भी सूरत में नहीं होगा बर्दाश्त:आरके सकलानी

रुड़की (देशराज पाल)। बाजार मेंदिन प्रतिदिनबढ़तेजाम की समस्या को लेकरआज सिविल लाइन कोतवालआरके सकलानीएक बार फिरसड़कों पर उतर गए। इस दौरान उन्होंने दुकानों के बाहर लगे अस्थाई ठियो को हटवाने के साथ-साथ चालान की प्रक्रिया भी शुरू की।कोतवाल के अचानक से सड़क पर उतर जाने से दुकानदारों में हड़कंप मचा रहा।
बाजारों में रोजमर्रा लगता जाम और दुकानदारों द्वारा सड़कों पर सामान रखकर अतिक्रमण किए जाने से नाराज सिविल लाइन कोतवाल शुक्रवार की सुबह अपनी पुलिस टीम के साथ सड़कों पर उतरे। इस दौरान उनके साथ दर्जनों दरोगा और सिपाही साथ रहे। यह अतिक्रमण अभियान उन्होंने सिविल लाइन बाजार से शुरू किया और यहां से होते हुए रुड़की टॉकीज, डाकखाना रोड, जादूगर रोड, बोट क्लब, नया नहर पुल होते हुए नगर निगम का पुराना पुल और नए पुल तक पहुंचे। यहां पर इन्होंने अतिक्रमण को हटवाया। इस दौरान अतिक्रमण करने पर दर्जनों से ज्यादा दुकानदारों के चालान भी काटे गए। कोतवाल आरके सकलानी ने अतिक्रमण को लेकर जहां सख्ती दिखाई तो वहीं उन्होंने कहा कि बाजार में अतिक्रमण किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया अतिक्रमण किए जाने पर जिन दुकानदारों का चालान किया गया है वह यह न सोच ले की चालान कट गया है तो उन्हें लाइसेंस मिल गया है यदि दोबारा उनके द्वारा अतिक्रमण किया जाना पाया जाता है तो उनका सामान जप्त कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कोतवाल के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News

रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित
रांची। रिम्स के क्षेत्रीय नेत्र संस्थान में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल एवं वेट लैब स्थापित किया गया है। रिम्स...
मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन चार मार्च को जाएंगे गिरिडीह
मतदान के प्रति जागरूक करना हमारी नैतिक जिम्मेवारी: निदेशक
सीआईडी ने दो साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार
जबलपुर इंजीनियरिंग कालेज को "टेक्नोलॉजी हब" बनाने की दिशा में हो क्रियान्वयन: मंत्री परमार
मंत्री कृष्णा गौर ने की गुफा मंदिर में महाशिवरात्रि आयोजन की तैयारियों की समीक्षा
अपने लोगों पर गर्व करने की परंपरा करनी होगी विकसित: उच्च शिक्षा मंत्री परमार