निर्वाचन आयोग की निदेशक ने की गहन समीक्षा

लखनऊ के नौ विधानसभाओं में वोटरों के संख्या की स्थिति पर की चर्चा

निर्वाचन आयोग की निदेशक ने की गहन समीक्षा

लखनऊ। कलेक्ट्रेट सभागार में शुभ्रा सक्सेना निदेशक भारत निर्वाचन आयोग की अध्यक्षता में निर्वाचक नामावलियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान की समीक्षा बैठक हुई। बैठक में रितेश सिंह अवर सचिव निर्वाचन आयोग ने भी भाग लिया। निदेशक ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम में जनपद लखनऊ की विधानसभा 171 लखनऊ पश्चिम, 172 लखनऊ उत्तर और 174 लखनऊ मध्य की समीक्षा और अभिलेखों का निरीक्षण किया जाना है। लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2024 के दृष्टिगत जो पुनरीक्षण अभियान चल रहा है उसकी समीक्षा की जाएगी।

जनपद लखनऊ में कुल 9 विधानसभाए है। जिसमे कुल 3766 पोलिंग स्टेशन बनाए गए है। जिसमे से नगरीय क्षेत्रों में 2702 और ग्रामीण क्षेत्रों में 1064 पोलिंग स्टेशन है। उक्त के साथ ही 25 नवंबर 2023 तक कुल 3886813 मतदाता है। जिनमे 2065341 पुरुष मतदाता, 1821287 महिला मतदाता और 185 थर्ड जेंडर मतदाता है। साथ ही जनपद का जेंडर रेशियो 879 और ई पी रेशियों 69.06 है।

समीक्षा में पता चला कि विधानसभा 171 लखनऊ पश्चिम और विधानसभा 172 लखनऊ उत्तर का जेंडर रेशियो सबसे कम है। जिसके लिए विशेष फोकस करते हुए जेंडर रेशियों को बढ़ाने के निर्देश दिए गए। इसी प्रकार विधानसभा 174 लखनऊ मध्य का ई पी रेशियों सबसे कम पाया गया।

उन्होंने बताया कि वोटरों में जो गैप है उसको खत्म करने के लिए स्कूल, कालेजों और विश्वविद्यालयो में विशेष कैंपों के माध्यम से अभियान चलाया जाए। निदेशक द्वारा ट्रांसजेंडर वोटरों को भी समीक्षा की गई। समीक्षा में पाया गया की वर्ष 2022 में जनपद में 207 ट्रांजेंडर मतदाता थे। परंतु वर्तमान में यह संख्या घटकर 185 रह गई है। बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी सूर्यपाल गंगवार, अपर जिलाधिकारी वित्त-राजस्व राकेश सिंह, अपर नगर मजिस्ट्रेट फाल्गुनी सिंह, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी अभय किशोर व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Tags: lucknow

About The Author

Latest News