रैट माइनिंग में माहिर झाँसी के तीन नौजवानों ने दी 42 मजदूरों को जिंदगी 

रैट माइनिंग में माहिर झाँसी के तीन नौजवानों ने दी 42 मजदूरों को जिंदगी 

झाँसी। उत्तराखण्ड की सुरंग में 15 दिन से फंसे 41 मजदूरों को बाहर निकालने के लिए रैट माइनर्स टीम की बेहद चर्चा हो रही है। टीम में  शामिल झाँसी के निवासी परसादी लोधी, राकेश राजपूत और भूपेंद्र राजपूत नेशनल हीरो बन गए हैं। उत्तराखण्ड के सिल्क्यारा में फंसे मजदूरों के लिए रैट माईनर्स की टीम भगवान साबित हुई। झाँसी के ये तीनों नौजवान रैट माइनर्स की उस टीम का हिस्सा हैं जिसने सुरंग में 16 दिन से फंसे इन मजदूरों को रेसक़्यू करने में एनडीआरएफ टीम के लिए बेशकीमती काम को अंजाम दिया।
 
इस टीम ने मात्र 800 एमएम के पाईप के जरिये सुरंग में मजदूरों तक पहुँचने के रास्ता बनाने के काम को अंजाम दिया। बेहद खतरनाक समझे जाने वाले इस काम को परसादी पिछले 10-12 साल से रैट माइनिंग टीम का हिस्सा हैं जबकि राकेश एक कम्पनी में पाईप पुशिंग का काम करते हैं।  भूपेंद्र राजपूत भी अपने काम को पिछले 2-3 साल से सफलतापूर्वक अंजाम दे रहे हैं। सुरंग  से बाहर आये मजदूरों के चेहरे पर जिंदगी की मुस्कान देख तीनों बेहद उत्साहित हैं।
 
 
Tags: Jhansi

About The Author

Latest News

 अग्निशमन उपकरणों के सम्बन्ध में प्रशिक्षण देकर छात्र / छात्राओं को किया गया जागरूक अग्निशमन उपकरणों के सम्बन्ध में प्रशिक्षण देकर छात्र / छात्राओं को किया गया जागरूक
संत कबीर नगर ,आज दिनांक 22.02.2024 को पुलिस महानिदेशक, अग्निशमन तथा आपात सेवाएं उत्तर प्रदेश लखनऊ के आदेश के क्रम...
रिश्वत लेते रंगे हाँथ पकड़ा गया माल थाने का दरोगा 
संवैधानिक अधिकार के पोस्टर/ बैनर को समस्त थानों पर स्थित महिला हेल्प डेस्क पर सूचनार्थ चस्पा किया गया
भू-माफियाओं पर लगाम कसेगा एंटी भू-माफिया सेल: जेसीपी
बोर्ड परीक्षा: फूल बरसाकर बच्चों के टेंशन को किया कम
डाक विभाग के दीन दयाल स्पर्श छात्रवृत्ति योजनाके विजेता किए गए पुरस्कृत
चेयरमैन पति को दबंग ने दी जान से मारने की धमकी