प्रदेश में इस बार किसी भी बूथ पर पुनर्मतदान नहीं

प्रदेश में इस बार किसी भी बूथ पर पुनर्मतदान नहीं

जयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 गुजरे तीन विधानसभा चुनावों में पहला ऐसा चुनाव रहा है, जब किसी भी विधानसभा सीट पर पुनर्मतदान नहीं करवाया जा रहा है। राजस्थान में वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में 128, वर्ष 2013 के चुनाव में सात और 2018 के चुनाव में एक स्थान पर पुनर्मतदान करवाया जा चुका है। 2023 के विधानसभा चुनाव में 199 सीटों के लिए चुनाव करवाए गए हैं। श्रीगंगानगर जिले की करणपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी विधायक गुरमीत सिंह कुन्नर का निधन हो जाने के कारण यहां निर्वाचन विभाग ने चुनाव प्रक्रिया स्थगित कर दी थी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि अब प्रदेश की 199 विधानसभा सीटों पर चुनाव प्रक्रिया शांतिपूर्ण संपन्न हो चुकी है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 के चुनाव में श्रीगंगानगर जिले की करणपुर विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 163 पर 10 दिसम्बर 2018 को पुनर्मतदान करवाया गया था। जबकि, इस बार प्रदेश की 199 विधानसभा क्षेत्रों में से एक भी बूथ पर पुनर्मतदान नहीं करवाया जा रहा है। चुनाव आयोग के ऑब्जवर्स ने 199 विधानसभा सीटों पर करवाए गए मतदान की स्क्रूटनी कर ली है। इसमें एक भी विधानसभा क्षेत्र ऐसा नहीं पाया गया है, जहां पुनर्मतदान की जरुरत महसूस होती हो। उन्होंने बताया कि वर्ष 2008 के विधानसभा चुनावों में प्रदेश में 128 बूथों पर पुनर्मतदान करवाया गया था, जबकि 2013 के चुनाव में सात स्थानों पर री-पोल हुआ था।

Tags:

About The Author

Latest News

प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे विश्व की पहली 'वैदिक घड़ी' का उद्घाटन प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे विश्व की पहली 'वैदिक घड़ी' का उद्घाटन
भोपाल। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर की नगरी उज्जैन स्थित जीवाजीराव वेधशाला में स्थापित दुनिया की पहली 'वैदिक घड़ी' स्थापित...
बागी विधायकों की सदस्यता रद्द करने का निर्णय स्वागत योग्य : कांग्रेस
महाकाल परिसर में शिव की नवरात्रि शुरू, नौ दिन नौ रूपों में भक्तों को दर्शन देंगे बाबा
प्रधानमंत्री मोदी आज मप्र के सभी जिलों में करेंगे साइबर तहसील का शुभारंभ
भोपाल: संदेशखाली के आरोपी शाहजहां को फांसी देने की मांग को लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन
 डिंडौरी में सड़क हादसा, 14 की मौत, 20 घायल
प्रधानमंत्री मोदी आज मप्र को देंगे 16,961 करोड़ की विकास परियोजनाओं की सौगात