हम ऐसी शिक्षा का पालन करें जिससे चरित्र का निर्माण हो: डॉ रजत अग्रवाल

हम ऐसी शिक्षा का पालन करें जिससे चरित्र का निर्माण हो: डॉ रजत अग्रवाल

रुड़की (देशराज पाल)। आनन्द स्वरूप आर्य सरस्वती विद्या मन्दिर में रथ सप्तमी के अवसर पर सूर्य नमस्कार महायज्ञ का साप्ताहिक आयोजन उत्साह एवं हर्षोल्लास के साथ किया गया। कक्षा एक से बारहवीं के छात्र/छात्राओं समस्त शिक्षक शिक्षिकाओं, प्रबन्ध समिति एवं समस्त कर्मचारियों द्वारा सामूहिक सूर्य नमस्कार योग किया गया। विद्यालय प्रबंधक ड़ाॅ0 रजत अग्रवाल, आदर्श वीर भारद्वाज सदस्य प्रबंध समिति, प्रधानाचार्य अमरदीप सिंह, उपप्रधानाचार्य मोहन सिंह मटियानी द्वारा माँ सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर पुष्पार्चन किया।  

रथ सप्तमी के अवसर पर विद्यालय के 1583 छात्र/छात्राओं, शिक्षकों, प्रबंध समिति एवं कर्मचारियों द्वारा 09 फरवरी से 16 फरवरी तक आयोजित सूर्य नमस्कार महायज्ञ सप्ताह में कुल 73262 सूर्य नमस्कार किये गये। सूर्य नमस्कार माॅसपेशियों के लिये वरदान है। पीठ दर्द, गर्दन दर्द में राहत के साथ-साथ दिल और दिमाग के लिये भी यह योग बेहद फायदेमंद है। मानसिक शांति, तनाव से मुक्ति के साथ-साथ वजन घटाने के लिये भी  सूर्य नमस्कार अत्यंत महत्वपूर्ण है। विद्यालय के प्रबन्धक डाॅ0 रजत अग्रवाल ने छात्र छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि ‘‘योगश्चित्त वृत्ति निरोधः’’ अर्थात् योग से चित्त वृत्तियों का निरोध होता है इसके कई भेद है जैसे यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान, समाधि आदि इन सबसे शरीर निरोगी होता है तथा मन पर नियन्त्रण होता है। स्वामी विवेकानन्द के जीवन का उदाहरण देते हुए उन्होने कहा कि हम ऐसी शिक्षा का पालन करें जिससे चरित्र का निर्माण हो, मन की शक्ति बढे, बुद्धि का विस्तार हो और व्यक्ति आत्मनिर्भर बने।
प्रधानाचार्य अमरदीप सिह ने कहा कि भारतवासी सदा ही योगासनों के माध्यम से स्वस्थ शरीर स्वस्थ मस्तिष्क के साथ-साथ लम्बी आयु प्राप्त करते रहे है और विभिन्न प्रकार के रोगों से बचाव के लिये भी योगासन अत्यन्त महत्वपूर्ण रहे है। इस हेतु योग प्रशिक्षक तिलक चैहान द्वारा विद्यालय में योग के विभिन्न लाभप्रद आसन, क्रियाओं, ध्यान और प्राणायाम का अभ्यास कराया जा रहा है। आज की भागदौड और तनाव से भरी जीवनशैली में योग मनुष्यों के लिये अत्यंत लाभप्रद और अनिवार्य हो गया है। भारत देश में सब स्वस्थ, सुखी और आनन्द में रहे इस हेतु विद्यालय हर संभव प्रयास करता रहेगा। इस अवसर पर जसवीर सिह पुण्डीर, शमा अग्रवाल, नवीन रावत, नीरज नौटियाल, तिलक राम, सचिन कुमार, आनन्द कुमार सहित समस्त शिक्षक-शिक्षिकाएँ उपस्थित रहें।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News

प्रेक्षक (व्यय) द्वारा एफ0एस0टी0 एवं एस0एस0टी0 टीमों का किया गया औचक निरीक्षण प्रेक्षक (व्यय) द्वारा एफ0एस0टी0 एवं एस0एस0टी0 टीमों का किया गया औचक निरीक्षण
संत कबीर नगर ,24 मई 2024 (सूचना विभाग)। लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2024 को सकुशल सम्पन्न कराने हेतु भारत निर्वाचन आयोग...
रिटर्निंग आफिसर/जिला मजिस्ट्रेट व पुलिस अधीक्षक की देख-रेख में पोलिंग पार्टियां हुई रवाना।
छठे चरण के मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
मतदान दिवस के अवसर पर कल 25 को सभी औद्योगिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे
रिमोट सेन्सिंग में मनाया अन्तर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस
सब-वे निर्माण के चलते ट्रेनें प्रभावित
तस्करी के सोने की लूट के अभियोग में वांछित 02 अभियुक्त गिरफ्तार।