डीएम की अध्यक्षता में पी0एम0 विश्वकर्मा योजना के क्रियान्वयन हेतु बैठक हुई आयोजित।

डीएम की अध्यक्षता में पी0एम0 विश्वकर्मा योजना के क्रियान्वयन हेतु बैठक हुई आयोजित।

संत कबीर नगर,14 फरवरी 2024(सू0वि0)। जिलाधिकारी महेन्द्र सिंह तंवर  की अध्यक्षता में पी0एम0 विश्वकर्मा योजना के क्रियान्वयन हेतु बैठक आयोजित की गयी। 
    इसी क्रम में उपायुक्त उद्योग द्वारा अवगत कराया गया कि भारत सरकार द्वारा देश के ऐसे सभी नागरिको को जो पांरपरिक शिल्पकार या कारीगर हो उनके लिए महात्वकांक्षी योजना पी0एम0 विश्वकर्मा योजना की घोषण की गयी है। इस योजना में लाभ प्राप्त करने हेतु पंरपरागत 18 टेªड से जुडे़ व्यक्तियों जैसे- कारपेंटर (सुथार), नाव बनाने वाले (बोट मेकर), अस्त्र बनाने वाले (आरमोरर), लोहार (ब्लैकस्मिथ), ताला बनाने वाले (लॉकस्मिथ), हथौड़ा और टूलकिट बनाने वाले (हैमर और टूलकिट मेकर), सुनार (गोल्डस्मिथ) कुम्हार (पॉटर), मूर्तिकार (स्कल्पटर), मोची (कॉबलर, शूस्मिथ), राजमिस्त्री (मेसन), डलिया चटाई झाडू बनाने वाले (कोईर, मैट, ब्रूम मेकर), गुड़िया और खिलौने बनाने वाले (डॉल एंड टॉय मेकर), नाई (बार्बर), मालाकार (गारलैंड मेकर) धोबी (वाशरमैन), दर्जी (टेलर) मछली का जाल बनाने वाले (फिशिंग नेट मेकर) इत्यादि को कौशल प्रशिक्षण प्रदान कर उनके कुशलता में बृद्धि एवं आत्मनिर्भर बनाना है। इस योजना में आवेदक की आयु न्यूनतम 18 वर्ष हो, आवेदक पांरपरिक शिल्पकार या कारीगर हो। आवेदक को स्वतः जन सेवा केन्द्र के माध्यम से अपने को पंजीकृत कराना है। पंजीयन के बाद चयनित अभ्यर्थी को 5 दिवसीय कौशल प्रशिक्षण के उपरान्त रू0 15000.00 का ई-वाउचर प्रदान किया जाएगा, जिससे वह संबंधित टूलकिट प्राप्त कर स्वतः रोजगार में लग जायेगें। इच्छुक अभ्यर्थी को बैंक के माध्यम सेे रू0 1.00 (एक) लाख तक का ऋण 5 प्रतिशत ब्याज पर देय होगा। अभ्यर्थी जनसेवा केन्द्र के माध्यम से वेबसाइट ीजजचेरूध्ध्चउअपेीूंांतउंण्हवअण्पदध् पर अपना पंजीयन कर सकते है। 
    बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी महोदय द्वारा विवेक कुमार पाण्डेस प्रतिनिधि डी0पी0आर0ओ0 को निर्देशित किया गया कि सभी ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधानों को पोर्टल पर विशेष अभियान चलाकर आनबोर्ड कराना सुनिश्चित करें। बैठक में उपस्थित सम्बन्धित समस्त विभागों के अधिकारियों को उक्त योजना में अधिक से अधिक लोगो को लाभान्वित कराने का निर्देश दिया गया और यह भी निर्देशित किया गया कि इस योजना का प्रचार-प्रसार ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों व्यापक रूप से कराया जाय, और इनके कुशल प्रशिक्षण, उत्पादकता, उत्पाद के पैकेजिंग, ब्राडिंग एवं मार्केटिंग लिंकेजेज पर विशेष ध्यान दिया जाय। 
    इस अवसर पर परियोजना निदेशक संजय कुमार नायक, पी0ओ0 डूडा प्रमेन्द्र सिंह, प्रधानाचार्य आई0टी0आई0, खलीलाबाद बृजेश कुमार, प्रधानाचार्य आई0टी0आई0 मेंहदावल उदय नारायण, उपप्रन्धक रोहित कुमार गौड़, बी0डी0ओ0 बेलहरकला राकेश कुमार श्रीवास्तव, ए0डी0ओ0 खलीलाबाद अशोक कुमार गुप्त, बी0डी0ओ0 मेंहदावल सुरेश कुमार मौर्य, एल0बी0 सिंह प्रभारी अधिकारी खादीग्रामोद्योग राकेश पाण्डेय, टेक्सटाइल इस्पेक्टर मनोज कुमार, श्रम विभाग, डा0 राकेश कुमार सिंह, डी0डी0 (ए0,जी0) विवेक कुमार पाण्डेय, (डी0पी0आर0ओ0 प्रति0) विवेकानन्द वर्मा, शिवशंकर विश्वकर्मा सदस्य सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहें।

Tags:

About The Author

Latest News