डीएम की अध्यक्षता में उद्यान, पशुपालन, मत्स्य विभाग की समीक्षा बैठक हुई आयोजित।

डीएम की अध्यक्षता में उद्यान, पशुपालन, मत्स्य विभाग की समीक्षा बैठक हुई आयोजित।

संत कबीर नगर,14 फरवरी 2024(सू0वि0)। जिलाधिकारी महेन्द्र सिंह तंवर की अध्यक्षता में उद्यान विभाग, पशु पालन एवं मत्स्य विभाग के क्रियाकलापों एवं योजनाओं की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी संत कुमार उपस्थित रहे।
    जिला उद्यान अधिकारी द्वारा बताया गया कि उद्यान विभाग के अंतर्गत आईजीआरएस के माध्यम से 6 शिकायत के मामले प्राप्त हुए थे, जिन्हें ससमय निस्तारित कर लिया गया था। पिछली बैठक के दौरान दिए गए सभी निर्देशों का अनुपालन कर लिया गया था। एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना के अंतर्गत शाकभाजी क्षेत्र विस्तार कार्यक्रम में 125 हेक्टेयर के लक्ष्य के सापेक्ष 132 हेक्टेयर हेतु कृषको द्वारा पंजीकरण कराया गया है। लक्ष्यों की पूर्ति माह फरवरी में कर ली जाएगी।
    उद्यान अधिकारी द्वारा बताया गया कि बखिरा झील के आस पास के क्षेत्र में औद्यानिक फसलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से खलीलाबाद फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी तथा स्मार्ट यील्ड फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी द्वारा इच्छा व्यक्त की गई है। इनके द्वारा 50 हेक्टेयर क्षेत्रफल में केले की खेती तथा केला आधारित उद्योग लगाया जाएगा।
    इसी क्रम में जिलाधिकारी द्वारा पशुपालन विभाग की समीक्षा के दौरान जनपद में स्थापित गौवंश आश्रय स्थल में संरक्षित गोवंश के रखरखाव, चिकित्सा व्यवस्था, ठंड से बचाव की व्यवस्था तथा अभियान के तहत गोवंश संरक्षण एवं मा० मुख्य मंत्री दर्पण पोर्टल की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने गो-आश्रय स्थल पर हरे चारे की व्यवस्था हेतु तहसीलों के समस्त उपजिलाधिकारी से व्यक्तिगत संपर्क कर ग्रामवार बंजर, चारगाह की सूची प्राप्त कर उपलब्ध कराने हेतु निर्देश दिये गये तथा संरक्षण अभियान के तहत समस्त कैटिल कैचर चालू हालत में रखने तथा आश्रय स्थल पर ठण्ड से बचाव हेतु समुचित व्यवस्था कराने हेतु समस्त खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया। समस्त आश्रय स्थलो का स्थलीय सत्यापन कर आश्रय स्थल पर चूनी, चोकर, भूसा एवं हरे चारे की पर्याप्त व्यवस्था हेतु तथा प्रतिदिन भ्रमण कर गोवंशो के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु समस्त पशु चिकित्साविद् को निर्देशित किया गया साथ ही साथ जिलाधिकारी द्वारा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि प्रत्येक पशुचिकित्साविद् द्वारा कम से कम 15 से 20 गोवंश मा0 मुख्यमंत्री सहभागिता योजना के इच्छुक लाभार्थियों का आवेदन पत्र प्रस्तुत करने हेतु निर्देश दिया गया।
    इसी क्रम में मत्स्य विभाग द्वारा संचालित योजनाओं प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना, मुख्यमंत्री मत्स्य सम्पादा योजना एवं मछुआरा दुर्घटना बीमा योजना की समीक्षा के दौरान संतोषजनक प्रगति पायी गयी।
    इस अवसर पर पी0डी0 संजय कुमार नायक, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 यशपाल सिंह, मुख्य कार्यपालक अधिकारी मत्स्य विजय कुमार मिश्र, जिला उद्यान अधिकारी समुद्रगुप्त मल्ल, जिला कृषि अधिकारी पी0सी0 विश्वकर्मा, समस्त अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत एवं समस्त पशु चिकित्साविद् उपस्थित रहे। 

Tags:

About The Author

Latest News

 विद्यालय में मनाया गया 'विश्व माहवारी दिवस'। विद्यालय में मनाया गया 'विश्व माहवारी दिवस'।
रामपुर: मंगलवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चमरौआ व कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में 'विश्व माहवारी दिवस' मनाया गया।इस अवसर...
श्री राम भक्त हनुमान जैसा देव नहीं संसार में...
डीएम एसपी द्वारा स्ट्रांग रूम का किया गया निरीक्षण, दिये गये आवश्यक दिशा निर्देश
मार्ग दुर्घटना में घायल व्यक्ति को भिजवाया गया अस्पताल
हत्या के मामले में अभियुक्त को किया गया गिरफ्तार
सेवा निवृत्त न्यायमूर्ति राजेश टण्डन ने किया वृद्धाश्रम और अनाथालय के लिये भूमि पूजन
अवकाश अवधि में ड्यूटी करने कर्मचारियों को उपार्जित अवकाश दे सरकार-संजय द्विवेदी