संभागीय अधिकारी बैठक के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें: कंसोटिया

 संभागीय सचिव ने वीडियो कान्फ्रेसिंग से की योजनाओं के क्रियान्वयन के समीक्षा

संभागीय अधिकारी बैठक के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें: कंसोटिया

रीवा। विकास योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए संभाग स्तर पर बैठकें आयोजित की जा रही हैं। रीवा संभाग के लिए नियुक्त प्रभारी सचिव वन विभाग के अपर मुख्य सचिव (एसीएस) जेएस कंसोटिया ने सोमवार को वीडियो कान्फ्रेंसिंग से संभागीय बैठक के निर्देशों के पालन प्रतिवेदन की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि संभागीय कमिश्नर बैठक के निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराएं। सभी संभागीय अधिकारी अपने विभाग से जुड़े मुद्दों पर तत्परता से कार्यवाही कर कमिश्नर को प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि बैठक में शासन स्तर के मामलों के लिए पृथक से कार्यवाही की जा रही है। संभागीय बैठकें नियमित रूप से आयोजित की जाएंगी। सांसदगणों, विधायकगणों तथा अन्य जनप्रतिनिधियों से सतत संवाद रखकर विकास योजनाओं के क्रियान्वयन तथा जन समस्याओं के संबंध में उनसे प्राप्त सुझावों पर तत्परता से कार्यवाही करें। विभिन्न परियोजनाओं में वन विभाग से स्वीकृति के प्रस्ताव संबंधित अधिकारी ऑनलाइन दर्ज करा दें। मुख्य वन संरक्षक रीवा वन विभाग से जुड़े सभी मुद्दों में समन्वय से कार्यवाही कराकर प्रतिवेदन प्रस्तुत करें।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग में विभागवार बिन्दुओं की जानकारी देते हुए रीवा संभाग के कमिश्नर गोपालचन्द्र डाड ने कहा कि संभाग के सभी जिलों में कई महत्वपूर्ण पद रिक्त हैं। इनकी पूर्ति किया जाना आवश्यक है। इसके लिए प्रस्ताव भेजा गया है। संभाग में मैहर और मऊगंज दो नए जिले गठित हुए हैं। इन जिलों में सभी विभागों के पदों की स्वीकृति किया जाना आवश्यक है। कमिश्नर ने बताया कि गोविंदगढ़ से हनुमना सड़क निर्माण का प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। सिंगरौली जिले में सरई में बाईपास रोड का निर्माण भी तैयार कर लिया गया है। सीधी से सिंगरौली के निर्माणाधीन फोरलेन सड़क का निर्माण जारी है। इसमें गोपद पुल में एक ओर स्लैब ढालने का कार्य इस माह के अंत तक पूरा हो जाएगा। जल संसाधन विभाग से संबंधित मुद्दों में सिंगरौली जिले के बेलदरा बांध का निर्माण कार्य मंजूर हो गया है। इसका भूमिपूजन कर निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। गोड़ सिंचाई परियोजना के प्रस्तावित स्थल में संशोधन करके दो नवीन स्थलों पर बांध का निर्माण मंजूर किया गया है। सीतापुर, हनुमना सूक्ष्म दाब सिंचाई परियोजना का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। इससे चार जिलों में एक लाख 25 हजार हेक्टयेर में सिंचाई हो सकेगी। बरही के पास महानदी में क्षतिग्रस्त पुल के सुधार के लिए 26 करोड़ रुपए का टेण्डर मंजूर हो गया है। इसका निर्माण कार्य शीघ्र शुरू होगा।

बैठक में बताया गया कि नर्मदाघाटी विकास परियोजना से बरगी नहर प्रणाली का कार्य सतना और मैहर जिले में जारी है। इसमें स्लीमनाबाद टनल का 1.6 किलोमीटर का निर्माण कार्य शेष है। इसे दो माह में पूरा कर लिया जाएगा। जल जीवन मिशन के निर्माण कार्यों के संबंध में बताया गया कि अतिरिक्त मानवशक्ति और मशीनें लगाकर निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। गत माह 13 प्रतिशत की तुलना में इस माह 21 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। कमिश्नर ने बताया कि सिंगरौली में ट्राईबल विभाग से स्वीकृत दो अधूरे भवनों का निर्माण पूरा कराने के लिए 110 लाख रुपये का प्रस्ताव भेजा गया है। मऊगंज जिले में कलेक्ट्रेट भवन के निर्माण का प्रस्ताव हाउसिंग बोर्ड की पुनर्घनत्वीकरण योजना में रखा गया था। जिसे साधिकार समिति ने अस्वीकृत कर दिया है। इसका निर्माण विभागीय मद से किया जाएगा। मऊगंज और मैहर में नवीन कलेक्ट्रेट भवनों का निर्माण प्रस्तावित किया गया है। बैठक के निर्देशों के अनुसार ऊर्जा विभाग द्वारा सीधी में 25 ट्रांसफार्मरों का डिपो बना दिया गया है। सोन घड़ियाल अभ्यारणय के डिनोटिफिकेशन का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न वितरण की नियमित निगरानी की जा रही है। इस माह का वितरण 92 प्रतिशत हो गया है। मनरेगा से बनाई गई गौशालाओं का संचालन ग्राम पंचायतों से कराने की कार्यवाही की जा रही है।

कमिश्नर ने बताया कि चित्रकूट विकास प्राधिकरण का गठन किया जा चुका है। चित्रकूट में श्रीराम वन पथ गमन तथा मैहर में माँ शारदा लोक के निर्माण का प्रस्ताव संस्कृति विभाग द्वारा तैयार किया जा रहा है। मऊगंज में आयुष्मान कार्ड बनाने की कठिनाई दूर कर दी गई है। मैहर तथा मऊगंज में कलेक्टर न्यायालय में प्रकरणों की सुनवाई शुरू हो गई है। मैहर जिले में ग्राम धतुआ में नर्सरी निर्माण का प्रस्ताव भेजा गया है। नयागांव थाने का नाम परिवर्तित कर इसे चित्रकूट थाना करने का नोटिफिकेशन जारी हो गया है। बैठक में कलेक्टर प्रतिभा पाल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ सौरभ सोनवणे तथा संभी संभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी बैठक में शामिल हुए।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News