तीसरी आँख की निगरानी में 22 फरवरी से 115 केन्द्रों पर प्रारम्भ होगी बोर्ड परीक्षाये

तीसरी आँख की निगरानी में 22 फरवरी से 115 केन्द्रों पर प्रारम्भ होगी बोर्ड परीक्षाये

फ़िरोज़ाबाद ,माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा 22 फरवरी से जनपद के 115 परीक्षा केन्द्रों पर प्रारम्भ होंगी
 परीक्षा को पूर्णतया नकल विहीन बनाने एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराये जाने के लिए जिलाधिकारी डॉ उज्ज्वल कुमार की अध्यक्षता में एम0जी0बालिका शिक्षण संस्थान में सभी केन्द्र व्यापस्थापकों व स्टेटिक मजिस्ट्रेट के साथ बैठक आयोजित की गयी।
 बैठक मे जिलाधिकारी ने सभी केन्द्र व्यापस्थापकों को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रशासन और आपके सम्मिलित प्रयास से ही परीक्षा को नकल विहीन कराया जा सकता है। उन्होने तैनात किये गये सभी मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया कि सरकार की अपेक्षा के अनुरूप एकदम सख्ती के साथ प्राप्त निर्देशों का अनुपालन कराते हुए सुचितापूर्ण नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है। उन्होने कहा कि परीक्षा डयूटी में लगाए गये, सभी लोग निर्देश पुस्तिका का भलि-भांति से अध्ययन कर लें, जिससे डयूटी के दौरान कोई भी संदेह न रहने पाये। उन्होने बताया कि प्रश्न पत्र को डबल लॉक की अलमारियों में रखा जाएगा। गेट पर ही सभी के मोबाइल जमा करा दिये जाएगें। परीक्षा कक्ष में किसी को भी मोबाइल ले जाने की अनुमति नही होगीं।
उन्होने सभी केंद्र व्यवस्थापक व अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापकों को स्पष्ट निर्देंश देते हुए कहा, कि परीक्षा के दौरान किसी भी परीक्षा केन्द्र पर किसी भी रूप में नकल होती पाई जाती है। तो उन केंद्र व्यवस्थापको सहित परीक्षा कक्ष में तैनात अध्यापकों का कैरियर बर्बाद होने के साथ ही उन्हे जेल की हवा भी खानी पड सकती है। उन्होने कहा कि वह परीक्षा के दौरान स्वंय परीक्षा केंद्रों का सघन निरीक्षण करेंगे। उन्होने परीक्षा में लगाए गये सभी अध्यापक व केंद्र व्यवस्थापकों को कहीं से भी किसी प्रकार का दबाब या धमकी आती है। तो वह तत्काल सम्बन्धित थाना प्रभारी को लिखित रूप से अवगत कराए। पुलिस व जिला प्रशासन आप सभी के साथ है, आपकी सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुये बताया कि पुलिस प्रशासन पूरी मुश्तैदी के साथ तैनात रहेगा और भारी संख्या में पुलिस बल केन्द्रो पर रहेगा। 
सभी परीक्षा केन्द्रो पर सीसीटीबी कैमरे लगाये गये हैं ,इन कैमरों के माध्यम से जनपद स्तर पर बनाए गए जिला कण्ट्रोल रूम पर परीक्षा केंन्द्र की सारी गतिविधियां परीक्षा सुचारू रूप से चल रहीं है, परीक्षा पूरी तरह से नकलविहीन चल रहीं है, या नहीं आदि को स्पष्ट रूप से देखा व सुना जा सकता है।
उन्होने कहा कि सभी तैनात किये गये मजिस्ट्रेट एवं अधिकारी अपनी पूरी क्षमता से कानून को लागू कराकर स्वच्छ, पारदर्शी परीक्षा सम्पन्न करायेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी को परीक्षा प्रक्रिया को विस्तार से समझाया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी दीक्षा जैन ने परीक्षा केन्द्र व्यवस्थापकों को निर्देशित करते हुए कहा ,कि परीक्षा कक्ष में लगे सीसीटीवी कैमरें, वायस रिकार्डर, राउटर की क्रियाशीलता के साथ ही कैमरों को सही दिशा में स्थापित करना ,जिसमें परीक्षा कक्ष में उपस्थित सभी परीक्षार्थीयों को कवर करते हुए प्रदर्शित किया जा रहा हो। उन्होने कहा कि परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार पर सभी परीक्षार्थियों की सघन तलाशी के उपरांत ही प्रवेश कराने की नियमित व्यवस्था सुनिश्चित करानी होगी। उन्होने यह भी कहा कि बालिका परीक्षार्थियों की तलाशी केवल महिला अध्यापिकाओं द्वारा किये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।
उन्होने सेक्टर, स्टेटिक व केंद्र व्यवस्थापक को निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा प्रारंभ होने से पूर्व परीक्षा केंद्रों में मानकानुसार बाउंड्री वॉल, बालक बालिकाओं हेतु प्रथक प्रथक शौचालय, स्वच्छ पेयजल, सीसीटीवी कैमरा, विद्युत व्यवस्था एवं जनरेटर, कक्षों में फर्नीचर एवं प्रकाश की समुचित व्यवस्था पंखों की उपलब्धता, प्रश्न पत्रों के सुरक्षित रखरखाव हेतु डबल लॉक अलमारी की व्यवस्था उपलब्ध होने व संचालित होने एवं क्रियाशील होने के संबंध में जांच लें। 
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी दीक्षा जैन, जिला विद्यालय निरीक्षक निशा आस्थाना, पुलिस अधीक्षक नगर सर्वेश कुमार मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

आंख की  निगरानी में  22 फरवरी से  115 परीक्षा केन्द्रों पर प्रारम्भ होगी बोर्ड परीक्षाऐं

 

फ़िरोज़ाबाद ,माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा 22 फरवरी से जनपद के 115 परीक्षा केन्द्रों पर प्रारम्भ होंगी
 परीक्षा को पूर्णतया नकल विहीन बनाने एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराये जाने के लिए जिलाधिकारी डॉ उज्ज्वल कुमार की अध्यक्षता में एम0जी0बालिका शिक्षण संस्थान में सभी केन्द्र व्यापस्थापकों व स्टेटिक मजिस्ट्रेट के साथ बैठक आयोजित की गयी।
 बैठक मे जिलाधिकारी ने सभी केन्द्र व्यापस्थापकों को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रशासन और आपके सम्मिलित प्रयास से ही परीक्षा को नकल विहीन कराया जा सकता है। उन्होने तैनात किये गये सभी मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया कि सरकार की अपेक्षा के अनुरूप एकदम सख्ती के साथ प्राप्त निर्देशों का अनुपालन कराते हुए सुचितापूर्ण नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है। उन्होने कहा कि परीक्षा डयूटी में लगाए गये, सभी लोग निर्देश पुस्तिका का भलि-भांति से अध्ययन कर लें, जिससे डयूटी के दौरान कोई भी संदेह न रहने पाये। उन्होने बताया कि प्रश्न पत्र को डबल लॉक की अलमारियों में रखा जाएगा। गेट पर ही सभी के मोबाइल जमा करा दिये जाएगें। परीक्षा कक्ष में किसी को भी मोबाइल ले जाने की अनुमति नही होगीं।
उन्होने सभी केंद्र व्यवस्थापक व अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापकों को स्पष्ट निर्देंश देते हुए कहा, कि परीक्षा के दौरान किसी भी परीक्षा केन्द्र पर किसी भी रूप में नकल होती पाई जाती है। तो उन केंद्र व्यवस्थापको सहित परीक्षा कक्ष में तैनात अध्यापकों का कैरियर बर्बाद होने के साथ ही उन्हे जेल की हवा भी खानी पड सकती है। उन्होने कहा कि वह परीक्षा के दौरान स्वंय परीक्षा केंद्रों का सघन निरीक्षण करेंगे। उन्होने परीक्षा में लगाए गये सभी अध्यापक व केंद्र व्यवस्थापकों को कहीं से भी किसी प्रकार का दबाब या धमकी आती है। तो वह तत्काल सम्बन्धित थाना प्रभारी को लिखित रूप से अवगत कराए। पुलिस व जिला प्रशासन आप सभी के साथ है, आपकी सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुये बताया कि पुलिस प्रशासन पूरी मुश्तैदी के साथ तैनात रहेगा और भारी संख्या में पुलिस बल केन्द्रो पर रहेगा। 
सभी परीक्षा केन्द्रो पर सीसीटीबी कैमरे लगाये गये हैं ,इन कैमरों के माध्यम से जनपद स्तर पर बनाए गए जिला कण्ट्रोल रूम पर परीक्षा केंन्द्र की सारी गतिविधियां परीक्षा सुचारू रूप से चल रहीं है, परीक्षा पूरी तरह से नकलविहीन चल रहीं है, या नहीं आदि को स्पष्ट रूप से देखा व सुना जा सकता है।
उन्होने कहा कि सभी तैनात किये गये मजिस्ट्रेट एवं अधिकारी अपनी पूरी क्षमता से कानून को लागू कराकर स्वच्छ, पारदर्शी परीक्षा सम्पन्न करायेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी को परीक्षा प्रक्रिया को विस्तार से समझाया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी दीक्षा जैन ने परीक्षा केन्द्र व्यवस्थापकों को निर्देशित करते हुए कहा ,कि परीक्षा कक्ष में लगे सीसीटीवी कैमरें, वायस रिकार्डर, राउटर की क्रियाशीलता के साथ ही कैमरों को सही दिशा में स्थापित करना ,जिसमें परीक्षा कक्ष में उपस्थित सभी परीक्षार्थीयों को कवर करते हुए प्रदर्शित किया जा रहा हो। उन्होने कहा कि परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार पर सभी परीक्षार्थियों की सघन तलाशी के उपरांत ही प्रवेश कराने की नियमित व्यवस्था सुनिश्चित करानी होगी। उन्होने यह भी कहा कि बालिका परीक्षार्थियों की तलाशी केवल महिला अध्यापिकाओं द्वारा किये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।
उन्होने सेक्टर, स्टेटिक व केंद्र व्यवस्थापक को निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा प्रारंभ होने से पूर्व परीक्षा केंद्रों में मानकानुसार बाउंड्री वॉल, बालक बालिकाओं हेतु प्रथक प्रथक शौचालय, स्वच्छ पेयजल, सीसीटीवी कैमरा, विद्युत व्यवस्था एवं जनरेटर, कक्षों में फर्नीचर एवं प्रकाश की समुचित व्यवस्था पंखों की उपलब्धता, प्रश्न पत्रों के सुरक्षित रखरखाव हेतु डबल लॉक अलमारी की व्यवस्था उपलब्ध होने व संचालित होने एवं क्रियाशील होने के संबंध में जांच लें। 
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी दीक्षा जैन, जिला विद्यालय निरीक्षक निशा आस्थाना, पुलिस अधीक्षक नगर सर्वेश कुमार मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

आंख की  निगरानी में  22 फरवरी से  115 परीक्षा केन्द्रों पर प्रारम्भ होगी बोर्ड परीक्षाऐं*

 

फ़िरोज़ाबाद ,माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित हाईस्कूल और इण्टरमीडियट की परीक्षा 22 फरवरी से जनपद के 115 परीक्षा केन्द्रों पर प्रारम्भ होंगी
 परीक्षा को पूर्णतया नकल विहीन बनाने एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराये जाने के लिए जिलाधिकारी डॉ उज्ज्वल कुमार की अध्यक्षता में एम0जी0बालिका शिक्षण संस्थान में सभी केन्द्र व्यापस्थापकों व स्टेटिक मजिस्ट्रेट के साथ बैठक आयोजित की गयी।
 बैठक मे जिलाधिकारी ने सभी केन्द्र व्यापस्थापकों को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रशासन और आपके सम्मिलित प्रयास से ही परीक्षा को नकल विहीन कराया जा सकता है। उन्होने तैनात किये गये सभी मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया कि सरकार की अपेक्षा के अनुरूप एकदम सख्ती के साथ प्राप्त निर्देशों का अनुपालन कराते हुए सुचितापूर्ण नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है। उन्होने कहा कि परीक्षा डयूटी में लगाए गये, सभी लोग निर्देश पुस्तिका का भलि-भांति से अध्ययन कर लें, जिससे डयूटी के दौरान कोई भी संदेह न रहने पाये। उन्होने बताया कि प्रश्न पत्र को डबल लॉक की अलमारियों में रखा जाएगा। गेट पर ही सभी के मोबाइल जमा करा दिये जाएगें। परीक्षा कक्ष में किसी को भी मोबाइल ले जाने की अनुमति नही होगीं।
उन्होने सभी केंद्र व्यवस्थापक व अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापकों को स्पष्ट निर्देंश देते हुए कहा, कि परीक्षा के दौरान किसी भी परीक्षा केन्द्र पर किसी भी रूप में नकल होती पाई जाती है। तो उन केंद्र व्यवस्थापको सहित परीक्षा कक्ष में तैनात अध्यापकों का कैरियर बर्बाद होने के साथ ही उन्हे जेल की हवा भी खानी पड सकती है। उन्होने कहा कि वह परीक्षा के दौरान स्वंय परीक्षा केंद्रों का सघन निरीक्षण करेंगे। उन्होने परीक्षा में लगाए गये सभी अध्यापक व केंद्र व्यवस्थापकों को कहीं से भी किसी प्रकार का दबाब या धमकी आती है। तो वह तत्काल सम्बन्धित थाना प्रभारी को लिखित रूप से अवगत कराए। पुलिस व जिला प्रशासन आप सभी के साथ है, आपकी सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुये बताया कि पुलिस प्रशासन पूरी मुश्तैदी के साथ तैनात रहेगा और भारी संख्या में पुलिस बल केन्द्रो पर रहेगा। 
सभी परीक्षा केन्द्रो पर सीसीटीबी कैमरे लगाये गये हैं ,इन कैमरों के माध्यम से जनपद स्तर पर बनाए गए जिला कण्ट्रोल रूम पर परीक्षा केंन्द्र की सारी गतिविधियां परीक्षा सुचारू रूप से चल रहीं है, परीक्षा पूरी तरह से नकलविहीन चल रहीं है, या नहीं आदि को स्पष्ट रूप से देखा व सुना जा सकता है।
उन्होने कहा कि सभी तैनात किये गये मजिस्ट्रेट एवं अधिकारी अपनी पूरी क्षमता से कानून को लागू कराकर स्वच्छ, पारदर्शी परीक्षा सम्पन्न करायेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी को परीक्षा प्रक्रिया को विस्तार से समझाया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी दीक्षा जैन ने परीक्षा केन्द्र व्यवस्थापकों को निर्देशित करते हुए कहा ,कि परीक्षा कक्ष में लगे सीसीटीवी कैमरें, वायस रिकार्डर, राउटर की क्रियाशीलता के साथ ही कैमरों को सही दिशा में स्थापित करना ,जिसमें परीक्षा कक्ष में उपस्थित सभी परीक्षार्थीयों को कवर करते हुए प्रदर्शित किया जा रहा हो। उन्होने कहा कि परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार पर सभी परीक्षार्थियों की सघन तलाशी के उपरांत ही प्रवेश कराने की नियमित व्यवस्था सुनिश्चित करानी होगी। उन्होने यह भी कहा कि बालिका परीक्षार्थियों की तलाशी केवल महिला अध्यापिकाओं द्वारा किये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।
उन्होने सेक्टर, स्टेटिक व केंद्र व्यवस्थापक को निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा प्रारंभ होने से पूर्व परीक्षा केंद्रों में मानकानुसार बाउंड्री वॉल, बालक बालिकाओं हेतु प्रथक प्रथक शौचालय, स्वच्छ पेयजल, सीसीटीवी कैमरा, विद्युत व्यवस्था एवं जनरेटर, कक्षों में फर्नीचर एवं प्रकाश की समुचित व्यवस्था पंखों की उपलब्धता, प्रश्न पत्रों के सुरक्षित रखरखाव हेतु डबल लॉक अलमारी की व्यवस्था उपलब्ध होने व संचालित होने एवं क्रियाशील होने के संबंध में जांच लें। 
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी दीक्षा जैन, जिला विद्यालय निरीक्षक निशा आस्थाना, पुलिस अधीक्षक नगर सर्वेश कुमार मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News