जिन बूथों पर 70 फीसद से अधिक मतदान होता है वहां रहेगी पैनी नजर

क्रिटिकल व वल्नरेबल मतदान केंद्रों की निगरानी को लेकर तैयार की रणनीति

जिन बूथों पर 70 फीसद से अधिक मतदान होता है वहां रहेगी पैनी नजर

थाना गोवर्धन परिसर में एसडीएम मयंक गोस्वामी पुलिसबल के साथ ब्रीफिंग करते हुए।

मथुरा। गोवर्धन में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर क्रिटिकल व वल्नरेबल मतदान केंद्रों पर अतिरिक्त सुरक्षा रहेगी। इसके इन जगहों पर सेंट्रल पुलिस फोर्स की तैनाती होगी तो निगरानी के लिए स्टैटिक व माइक्रो आब्जर्वर लगाए गए हैं। जिससे सकुशल चुनाव संपंन्न हो सके। थाना गोवर्धन परिसर में एसडीएम मयंक गोस्वामी ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी व कर्मचारियों के साथ बैठक की। बैठक में आगामी  लोकसभा चुनावों  को लेकर एसडीएम मयंक गोस्वामी ने संवेदनशील, सामान्य श्रेणी के बजाय वल्नरेबल, क्रिटिकल श्रेणी के मतदान केंद्रों का चयन किया है। इस श्रेणी के गोवर्धन विधानसभा में बूथ चिन्हित किए गए हैं।

क्रिटिकल की संज्ञा ऐसे मतदान केंद्रों को दी गई है। जहां 70 फीसद से अधिक पूर्व में मतदान हुआ हो, या लड़ाई झगड़ा होता रहा हो, इसको चिन्हित करके यह देखा जाएगा कि कहीं यहां जानबूझकर अधिक मतदान तो नहीं कराया गया। वहीं बल्नरेबल मतदान केंद्र को इस लिहाज से शामिल किया गया, जहां पर कोई दबंग व्यक्ति, समुदाय विशेष का दबदबा व कोई कारक प्रभावित रहा हो। ऐसे ही व्यक्ति को चुनाव से पहले पुलिस गुंडा एक्ट में चालान करती है। इस बाबत एसडीएम गोवर्धन ने बताया कि क्रिटिकल व बल्नरेबल मतदान केंद्र चिन्हित है। यहां पर सेंट्रल पुलिस फोर्स की विशेष तैनाती व माइक्रो आब्जर्वर, स्टैटिक मजिस्ट्रेट लगाए जाएंगे।

 

Tags: Mathura

About The Author

Latest News

आज का राशिफल 19 मई 2024 : इन जातकों के लिए दिन रहेगा लकी आज का राशिफल 19 मई 2024 : इन जातकों के लिए दिन रहेगा लकी
मेष  छात्र भाग्यशाली रहेंगे। व्यवसाय में सहकर्मियों का बेहतरीन सहयोग प्राप्त होगा। कार्यों को समय पर पूरा करने का प्रयास...
संजय निषाद का सुल्तानपुर आकर रैली करना मेनका गांधी के लिए है शुभ संकेत
कॉमेडी के मंच पर मतदान बढ़ाने की अपील
पांच माह में विष्णुदेव सरकार ने 16 हजार करोड़ कर्जा लिया : कांग्रेस
चुनावी शोर ने पकड़ी रफ्तार , ताबड़तोड़ जनसभाओं का सिलसिला शुरू
भाजपा ने विकास के नाम पर जनता को दिया छलावा-डॉ. एसपी सिंह पटेल
सीएम के कार्यक्रम को लेकर एडीजी समेत अफसरों ने किया कवायद