कानून-व्यवस्था पर कांग्रेस नेता नाना पटोले ने कहा- सूबे में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए

कानून-व्यवस्था पर कांग्रेस नेता नाना पटोले ने कहा- सूबे में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए

मुंबई। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को सूबे के राज्यपाल से मुलाकात करेगा और उन्हें राज्य में बिगड़ चुकी कानून व्यवस्था की जानकारी देगा। नाना पटोले ने कहा कि कांग्रेस पार्टी राज्यपाल से राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की भी मांग करेगी। नाना पटोले ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि महाराष्ट्र में कानून व्यवस्था बिगड़ गई है। कल्याण में पुलिस स्टेशन में गोलीबारी के बाद जलगांव, यवतमाल में भी गोलीबारी की घटना घटी है। गुरुवार को मुंबई में पूर्व नगरसेवक की हत्या की घटना ने सबको हिला कर रख दिया है। यह महाराष्ट्र के लिए बहुत गंभीर और चिंताजनक बात है। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री के 'वर्षा' बंगले के साथ-साथ मंत्रालय में भी गुंडे बेधड़क होकर घूम रहे हैं। तड़ीपार गुंडों को सरकारी संरक्षण मिलने और राजनीतिक हस्तक्षेप तथा दबाव के कारण पुलिस बेबस हो गई है। नाना पटोले ने मांग की है कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति चिंताजनक है और इस 'गुंडाराज' को खत्म करने के लिए महायुति सरकार को बर्खास्त करने के बाद राष्ट्रपति शासन लागू किया जाना चाहिए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब होने के बावजूद गृह मंत्री देवेंद्र फड़णवीस इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं। उन्होंने यह गैरजिम्मेदाराना बयान देकर अपनी लाचारी और हताशा का परिचय दिया है कि "अगर एक कुत्ता भी गाड़ी के नीचे आ जाए, तो विपक्ष गृह मंत्री का इस्तीफा मांगेगा। क्या फडणवीस को इंसान और कुत्ते में फर्क भी नहीं पता है। महाराष्ट्र में अब कानून का राज नहीं रह गया है।" एनसीआरबी की रिपोर्ट में कहा गया है कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में महाराष्ट्र अपराध के मामले में देश में नंबर वन है। अवैध बंदूकों के मामले में, नागपुर पहले स्थान पर है। उसके बाद ठाणे, मुंबई और पुणे है। प्रदेश में खैरात की तरह हथियारों की लाइसेंस जारी किये जा रहे हैं। तड़ीपार बदमाशों को पुलिस संरक्षण दिया जा रहा है। कुछ भ्रष्ट और दागी आईपीएस अधिकारियों को नियम ताक पर रखकर प्रमोशन दिया गया है, जबकि ईमानदार और निष्ठावान अधिकारियों को साइड लाइन किया जा रहा है। पुलिस बल में भारी राजनीतिक हस्तक्षेप और दबाव के कारण वे भी कोई कार्रवाई नहीं कर पाते हैं। गैंगस्टरों ने सरकार और प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती खड़ी कर दी है। यदि गृह मंत्री देवेन्द्र फडणवीस में थोड़ी सी भी नैतिकता और शर्म बची है तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। नाना पटोले ने कहा कि भाजपा ने महाराष्ट्र में गुंडाराज ला दिया है। सत्ताधारी दल के नेता लगातार धमकियां दे रहे हैं। केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। राज्य की जनता डरी हुई है। महिलाएं असुरक्षित हैं। दो उपमुख्यमंत्रियों की नजर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर है और सत्ता संघर्ष के कारण महाराष्ट्र के हितों की अनदेखी की जा रही है। नाना पटोले ने यह भी कहा कि तीन गुटों के बीच सत्ता संघर्ष में लोगों को उनके भरोसे छोड़ दिया गया है।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News

डीजीपी ने पुस्तक का किया विमोचन डीजीपी ने पुस्तक का किया विमोचन
लखनऊ। पुलिस महानिदेशक यूपी प्रशान्त कुमार द्वारा सोमवार को पुलिस मुख्यालय, गोमतीनगर विस्तार, लखनऊ में सेवानिवृत्त विशेष पुलिस महानिदेशक राजेश...
विद्यालय के प्रतिभाशाली छात्र देश-राष्ट्र की उन्नति एवं प्रगति में सहायक सिद्ध होंगे
बुद्ध जयंती के कार्यक्रमों में दिखी भारत-नेपाल की साझा बौद्ध विरासत की झलक
नेपाल के डांग जिले में भारत की आर्थिक सहायता से 2 स्कूल का उद्घाटन
डब्ल्यूआईपीओ संधि भारत और ग्लोबल साउथ के लिए एक बड़ी जीत
मुख्य मंत्री पोर्टल पर भी खेल कर रहे विघुत विभाग के अधिकारी
चौधरी चरण सिंह की पुण्य तिथि पर कार्यक्रम 29 को