प्राईवेट व्यक्तियों से कार्यालय में न कराएं कार्य: जिलाधिकारी

हाथरस। पूर्व में जिलाधिकारी अर्चना वर्मा द्वारा जनपद स्तरीय अधिकारियों को अवगत कराया गया था कि प्रायः यह देखने में आ रहा है कि जनपद स्तरीय अधिकारीगणों के कार्यालय में कार्यालय कर्मचारियों के अतिरिक्त प्राईवेट व्यक्तियों द्वारा कार्यालयों में कार्य किये जाने की शिकायतें प्राप्त हो रही है, जिसके कारण आम जनता में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ-साथ जनपद की भी छवि खराब हो रही है। यह स्थिति अत्यन्त ही खेदजनक एवं आपत्तिजनक है। तत्क्रम में जनपद स्तरीय समस्त अधिकारियों को निर्देशित किय गया था कि वह अपने-अपने कार्यालय में कार्यालय कर्मचारियों के अतिरिक्त प्राईवेट व्यक्तियों से कार्यालय में कार्य न कराया जाय। यदि जनपद के किसी कार्यालय में प्राईवेट व्यक्ति कार्य करते हुए पाया जाता है अथवा किसी भी स्तर से प्रतिकूल तथ्य संज्ञान में आता है तो सम्बन्धित विभाग के अधिकारी के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उक्त आदेश के उपरान्त भी कुछ अधिकारियों द्वारा आदेश का अनुपालन नहीं किया जा रहा है।
जिलाधिकारी अर्चना वर्मा ने जनपद स्तरीय समस्त अधिकारियों को पुनः निर्देशित किया जाता है कि वह अपने-अपने कार्यालय में कार्यालय कर्मचारियों के अतिरिक्त प्राईवेट व्यक्तियों से कार्यालय में कार्य न कराया जाय। यदि जनपद के किसी कार्यालय में प्राईवेट व्यक्ति कार्य करते हुए पाया जाता है अथवा किसी भी स्तर से प्रतिकूल तथ्य संज्ञान में आता है तो सम्बन्धित विभाग के अधिकारी के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी, जिसके वह स्वयं जिम्मेदार होंगे। इस आदेश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाये।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News

बड़े मंगलभंडारे से पूर्व कराना होगा नगर निगम में पंजीकरण बड़े मंगलभंडारे से पूर्व कराना होगा नगर निगम में पंजीकरण
लखनऊ। जेष्ठ माह में आगामी बड़े मंगल पर्व पर आयोजित होने वाले भण्डारो और आयोजनों को लेकर नगर निगम प्रशासन...
अस्पताल निदेशक ने उत्कृष्ट कार्य को किया सम्मानित
डीएम इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक संपन्न
राम चमेली चड्ढा महाविद्यालय में एक दिवसीय पर्सनालिटी डेवलपमेंट कार्यक्रम संपन्न
विभिन्न श्रेणियों में प्रदान किए जाएंगे राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय पुरस्कार
दिव्यांगजनो को शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना में जरुरी नही विवाह पंजीकरण
भारतीय दूतावास ने कंबोडिया से कराया 360 भारतीयों का रेस्क्यू, भारत लौटा पहला जत्था