फाइलेरिया की गंभीरता को लेकर नुक्कड़ नाटक

फाइलेरिया की गंभीरता को लेकर नुक्कड़ नाटक

बांदा। लाइलाज बीमारी फाइलेरिया से बचाव को लेकर सबको दवाई खिलाएंगे, हर एक को समझाएंगे, फाइलेरिया से बचाएंगे, सपने को सच बनाएंगे, देश खुशहाल बनाएंगे संदेशों के साथ शहर के तीन प्रमुख स्थानों पर नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किए गये। लखनऊ से आए आकार फाउंडेशन के कलाकारों ने कलक्ट्रेट प्रांगड़, जिला अस्पताल और बड़ोखर ब्लाक के महोखर गांव के प्राथमिक विद्यालय में शुक्रवार को नुक्कड़ नाटक आयोजित किए गये। इनके जरिये फाइलेरिया की गंभीरता बताकर 10 से 18 फरवरी तक स्वास्थ्यकर्मियों के सामने ही दवा खाने का संदेश दिया गया।

जिले के स्वास्थ्य महकमे ने स्वयंसेवी संस्था सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च सीफार संस्था के सहयोग से यह आयोजन कराया। नुक्कड़ नाटक के बाद लोगों को फाइलेरिया रोधी दवा सेवन की शपथ भी दिलाई गई। जिला अस्पताल में जिला मलेरिया अधिकारी पूजा अहिरवार ने नुक्कड़ नाटक का उद्घाटन किया और सहयोगियों के साथ नाटक देखा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनिल कुमार श्रीवास्तव के दिशा निर्देशन में आयोजित इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि फाइलेरिया एक ऐसी लाइलाज बीमारी है जिसे हाथीपांव के नाम से भी जानते हैं।

यह गंदगी में पनपने वाले फाइलेरिया संक्रमित क्यूलेक्स मादा मच्छर के काटने से होता है। इसके लिए साल में एक बार व पांच साल तक लगातार फाइलेरिया रोधी दवा का सेवन कर इस रोग से बचा जा सकता है। यह दवा प्रतिवर्ष अभियान के तहत घर-घर खिलाई जाती है। कलक्ट्रेट प्रांगड़ मे हुए आयोजन में संचारी रोगों के नोडल अधिकारी डॉ मुकेश पहाड़ी ने बताया कि 10 से 28 फरवरी तक के अभियान में दवा का सेवन आशा कार्यकर्ता के सामने ही करना है। अगर उस समय घर पर उपलब्ध नहीं हैं तो आशा कार्यकर्ता के घर जाकर दवा उनके सामने ही खाएं।

ताकि दवा की सही खुरांक मिल सके। दो वर्ष से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति को इस दवा का सेवन करना है। केवल गर्भवती और अति गंभीर बीमार लोग दवा का सेवन नहीं करेंगे। बीपी, शुगर, थायरॉयड जैसी बीमारियों में भी दवा का सेवन करना है। इस बार एक से दो वर्ष के बच्चों को इसी अभियान के दौरान पेट के कीड़े निकालने की दवा खिलाई जाएगी। बड़ोखर ब्लाक के महोखर प्राथमिक विद्यालय मे नाटक के जरिये लोगों को जागरूक किया गया। इस दौरान शिक्षक, छात्र-छात्राओं सहित मलेरिया इंस्पेक्टर आनंद मिश्रा व भानु मौजूद रहे। इस दौरान सीफॉर के जिला व ब्लॉक समन्वयक भी उपस्थित रहे।

Tags: Banda

About The Author

Latest News

डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट ने आर्थिक मदद कर दिखाई दरिया दिली डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट ने आर्थिक मदद कर दिखाई दरिया दिली
अलीगढ़। डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट रजिस्टर्ड कार्यक्षेत्र संपूर्ण भारत अलीगढ़ के द्वारा मृतक के परिवार की आर्थिक  मदद...
बलरामपुर अस्पताल में मृत्यु फार्मासिस्ट के लिए हवन हुआ
आतंकवाद-निरोध पर भारत-ब्रिटेन की बैठक, चुनौतियों से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर सहमति
राष्ट्रीय आय में मजदूरों को मिले हिस्सा - दिनकर 
स्कूलों को बम से उड़ाने के मामले में ‘गेमिंग एप’ का संदिग्ध रोल
भगवान बुद्ध के पथ पर चलने को कहा
लखनऊ विवि ने रैंकिंग में 19वां स्थान प्राप्त किया