शिक्षा मंत्री ने कहा आत्मानंद स्कूलों का संचालन शिक्षा विभाग के जरिए किया जायेगा

शिक्षा मंत्री ने कहा आत्मानंद स्कूलों का संचालन शिक्षा विभाग के जरिए किया जायेगा

रायपुर। अगले शैक्षणिक सत्र से कलेक्टर की समितियों को भंग कर आत्मानंद स्कूलों का संचालन शिक्षा विभाग के जरिए किया जायेगा। विधानसभा के बजट सत्र में शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने यह घोषणा की है। स्वामी आत्मानंद योजना को लेकर भाजपा विधायकों के ध्यानाकर्षण के जरिए स्कूलों के संचालन को लेकर सवाल उठाए थे। सदन में स्वामी आत्मानंद स्कूल को लेकर भाजपा विधायक अनुज शर्मा, अजय चंद्राकर, भावना बोहरा के ध्यानाकर्षण पर जवाब देते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री बृजमोहन ने कहा कि अभी हमारे सरकारी प्राचार्य और व्याख्याता को भी कलेक्टर वेतन देता है।जहां-जहां गड़बड़ी होगी, उसकी हम जांच करवाएंगे भाजपा विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा कि जब तक कलेक्टर के पास प्रभार रहेगा, व्यवस्था नहीं सुधरेगी, इसे बदल जाना चाहिए। अजय चंद्राकर ने कहा कि आत्मानंद स्कूल भूपेश बघेल के आनंद के लिए शुरू किया गया था। शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने घोषणा की कि अगले शिक्षा क्षेत्र में कलेक्टर की सभी समितियां को भंग कर दिया जाएगा।सभी शिकायतों की जांच कराई जाएगी। जिन स्कूलों के नाम बदले गए हैं, उनका नाम स्वामी आत्मानंद नाम के साथ जोड़ा जाएगा।

अजय चंद्राकर ने आरडी तिवारी स्कूल के जर्जर भवन और छत के स्लैब गिरने का मामला उठाते हुए सवाल किया कि स्मार्ट सिटी के मद से मेंटनेंस में किस नियम से मद का उपयोग किया गया।कौन सी तकनीकी संस्था है, जिसने कार्य संपादित किया।बृजमोहन अग्रवाल ने जवाब में बताया कि स्मार्ट सिटी लिमिटेड के बाद टीसीआईएल तकनीकी संस्था है, उसी के द्वारा प्रशिक्षण कर कार्य किया जा रहा है। मेसर्स शरद शुक्ला के द्वारा काम करवाया गया है। अजय चंद्राकर ने कहा कि इतना मेंटनेंस करवाने के बाद भी स्कूल में यह घटना घटी। पूरे प्रदेश में मेंटनेंस के नाम पर भ्रष्टाचार किया गया है। क्या उन पर कार्यवाही होगी। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा लगभग 800 करोड़ रुपये खर्च किया गया है।

भाजपा विधायक अनुज शर्मा ने आरडी तिवारी स्कूल का इंजीनियरों के द्वारा ऑडिट कराए जाने के बारे में पूछा । बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि इसका ऑडिट करवाया गया है। भावना बोहरा ने पूछा स्मार्ट क्लास, टीचर्स को लेकर कई प्रकार की विसंगतियां हैं। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा जो भी शिकायत आएगी, उसमें कार्रवाई करेंगे विधानसभा अध्यक्ष ने कहा क्या कोई अलग से सेटअप मंज़ूर किया गया है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि इसके लिए अलग से सेटअप नहीं है, लेकिन सरकार द्वारा कई मदों से कार्य किया का रहा है। लेकिन जल्द ही इन सभी स्कूलों को स्कूल शिक्षा विभाग के अंदर ले आएंगे। इसके साथ ही विभागीय मंत्री ने भाजपा विधायकों को आश्वस्त कराया कि इन स्कूलों की नाम में स्वामी आत्मानंद के साथ प्रदेश के उन सभी महापुरुषों, दानदाताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के नाम जोड़े जाएंगे जिनके नाम हटा दिए गए हैं। मंत्री की इस घोषणा का भाजपा विधायकों ने मेज थपथपाकर स्वागत किया।


Tags:

About The Author

Latest News