पटाखा फैक्टरी विस्फोटः दूसरे दिन भी मलबे से उठ रहा धुआं, कूलिंग व बचाव कार्य जारी

हेडक्वार्टर से एनडीआरएफ का 35 सदस्यीय दल मौके पर पहुंचा

पटाखा फैक्टरी विस्फोटः दूसरे दिन भी मलबे से उठ रहा धुआं, कूलिंग व बचाव कार्य जारी

मुख्यमंत्री यादव आज हरदा पहुंच कर हालात का जायजा लेंगे
हरदा/भोपाल। पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के दूसरे दिन बुधवार को भी मलबे में जगह-जगह आग धधक रही है और धुआं उठ रहा है। तेज तपिश बरकरार है। इससे बचावकर्मियों को मलबा हटाने में दिक्कत आ रही है। पटाखा फैक्ट्री की साइट पर वाराणसी स्थित हेडक्वार्टर से एनडीआरएफ का 35 सदस्यीय दल बुधवार सुबह पहुंचा। फैक्ट्री में जहां तलघर में बारूद और कर्मचारी मौजूद थे, वहां मलबा हटाने का काम किया जा रहा है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के बचाव दल आग बुझाने और कूलिंग करने का काम कर रहे हैं मध्य प्रदेश के हरदा जिला मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर बैरागढ़ गांव स्थित पटाखा फैक्ट्री में मंगलवार सुबह विस्फोट के बाद भीषण आग लग गई थी। इस हादसे में 11 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 172 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। कई घायलों को इंदौर, भोपाल के अलावा आसपास के जिलों के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय उच्चस्तरीय कमेटी गठित की है। मुख्यमंत्री आज स्वयं हरदा पहुंचकर हालात का जायजा लेंगे। पटाखा फैक्ट्री के आसपास के तकरीबन आधा किलोमीटर के इलाके में वीरानी छाई हुई है। घरों में ताले लटके हैं और जान बचाकर भागे लोगों ने दूसरे गांवों या दूर सुरक्षित जगह पनाह ले रखी है। लोग इस कदर दहशत में हैं कि घटना के 20-21 घंटे गुजरने के बाद भी घर लौटने को तैयार नहीं। लहाल बेसमेंट से मलबा हटाने का काम किया जा रहा है।

बुधवार सुबह कलेक्टर, एसपी समेत पुलिस-प्रशासन के कुछ और अधिकारी मौके पर पहुंच कर बचाव कार्यों का जायजा ले रहे हैं। पटाखा फैक्ट्री के आसपास बसे लोगों का गुस्सा मौके पर पहुंचे अधिकारियों पर फूट पड़ा। बैरागढ़ निवासी पिंकी चौहान और जानकीबाई ने एसडीएम केसी परते से कहा कि उनके घर के पास एक गोदाम और है, जहां पर पटाखे और कच्चा माल रखा है। उसे तुरंत हटाया जाए। अगर ऐसा नहीं किया तो उनका घर और आसपास के लोग प्रभावित होंगे। इसी बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी बुधवार सुबह घटना स्थल पर पहुंच गए। उनके साथ कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा और पीसी शर्मा भी उनके साथ हैं। उन्होंने लोगों की व्यथा सुन मौके पर मौजूद एसडीएम के समक्ष नाराजगी जताई और कलेक्टर को फोन लगवाकर बात करने को कहा। पटवारी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने हादसे में घायल हुए लोगों को 10 लाख और जिनकी मौत हुई उनके परिजनों को एक करोड रुपये की सहायता राशि तत्काल जारी करने की मांग की।

फैक्टरी मालिक समेत चार आरोपित गिरफ्तार
हरदा में संचालित अवैध पटाखा फैक्ट्री के मालिक राजेश अग्रवाल और सोमेश अग्रवाल समेत तीन आरोपितों को पुलिस ने मंगलवार देर रात ही गिरफ्तार कर लिया था। दोनों फैक्टरी मालिक हरदा छोड़ कर नेशनल हाईवे के जरिये भाग रहे थे, इसी बीच पुलिस ने राजगढ़ जिले के सारंगपुर के समीप हाईवे पर इन्हें पकड़ लिया। पुलिस के मुताबिक, तीसरे आरोपित का नाम रफीक खान है। इस मामले में हरदा के सिविल लाइन थाना में एक अपराध दर्ज किया गया है। फिलहाल तीनों आरोपित पुलिस कस्टडी में हैं, जिनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं, बुधवार सुबह पटाखा फैक्टरी में हुए हादसे के एक और आरोपित रफीक उर्फ मन्नी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि रफीक कांग्रेस पार्षद का भाई है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News