शैक्षिक अधिकारी स्वप्रेरित होकर कार्य करें : डॉ महेन्द्र देव

पीईएस नवनियुक्त अधिकारियों के प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

शैक्षिक अधिकारी स्वप्रेरित होकर कार्य करें : डॉ महेन्द्र देव

प्रयागराज। आप लोग सौभाग्यशाली हैं कि लाखों अभ्यर्थियों में से आपका चयन प्रान्तीय शिक्षा सेवा संवर्ग में शैक्षिक अधिकारी के रूप में हुआ है। आप लोग केवल नौकरी के लिए विभाग में न आकर समाज की प्रगति व उन्नति के लिए आए हैं। उच्च स्तरीय निर्देशों के अनुपालन के अतिरिक्त स्वप्रेरित होकर समाज व विभाग के लिए कार्य करें, जिससे आप विभाग में अपनी एक अलग पहचान बना सकें और स्थानांतरित होने के बाद भी वहां के सभी लोग आप को सदैव याद रखें।
 
यह बातें माध्यमिक बेसिक के निदेशक डॉ. महेन्द्र देव ने राज्य शैक्षिक प्रबन्धन एवं प्रशिक्षण संस्थान (सीमैट), उप्र प्रयागराज में प्रान्तीय शिक्षा सेवा संवर्ग (पी.ई.एस) नवनियुक्त अधिकारियों को 10 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन पर सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जब आप सभी प्रधानाचार्य के रूप में कार्य करेंगे तो आवश्यक है कि आप बच्चों व साथी शिक्षकों के साथ आत्मीय सम्बन्ध स्थापित करें।
 
आपके सेवा काल में जो भी भूमिका मिले, प्रधानाचार्य के रूप में बेसिक शिक्षा अधिकारी के रूप में वरिष्ठ प्रवक्ता के रूप में आप अपनी भूमिका के साथ अपनी पहचान बनायें। आप को सभी अधिकरियों के बीच भी आपसी प्रतिस्पर्धा बनाये रखनी चाहिए। इससे आप सभी बेहतर कार्य करने के लिए प्रेरित होंगे।सीमैट के निदेशक दिनेश सिंह ने कहा कि इस दस दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में आप सभी अधिकारियों से सम्बन्धित विभिन्न क्रियाकलापों को समावेशित किया गया है।
 
इसके उपरान्त यदि किसी भी अधिकारी को किसी प्रकार के सहायता की आवश्यकता हो तो वह निःसंकोच संस्थान से सम्पर्क कर सकता है। उसे विशेषज्ञों से हर सम्भव सुझाव प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि यह प्रशिक्षण आपके लिए सार्थक सिद्ध होगा। हम आने वाले दिनों में अधिकारियों के प्रशिक्षण को तीन माह का करने पर विचार कर रहे हैं जिससे कि हम शैक्षिक अधिकारियों को सैद्धान्तिक पक्षों के साथ व्यावहारिक पक्ष के ज्ञान हेतु विभिन्न कार्यालयों में भेजकर कार्यानुभव प्रदान कर सकें।
 
वरिष्ठ विशेषज्ञ, स्कूली शिक्षा, राज्य परियोजना कार्यालय लखनऊ से आये राजेन्द्र प्रसाद ने कहा कि आप अपने आचरण से एक आदर्श मानक स्थापित करें। कार्यक्रम समन्वयक प्रभात कुमार मिश्र ने मुख्य अतिथि के समक्ष प्रशिक्षण कार्यक्रम में हुई गतिविधियों से अवगत कराया। तदोपरान्त प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि ने प्रमाण पत्र वितरित किया। इस अवसर पर सीमैट संकाय सदस्य डॉ. अमित खन्ना, पवन सावंत, बी.आर आबिदी एवं विप्लव प्रताप सिंह आदि उपस्थित थे।
Tags: Prayagraj

About The Author

Latest News