सकारात्मकता और पढ़ाई में निरंतरता से मिलती है सफलता*:

डिप्टी कलेक्टर के पद पर नियुक्त हुए कृष्णकांत विश्वकर्मा का हुआ सम्मान*

सकारात्मकता और पढ़ाई में निरंतरता से मिलती है सफलता*:

×गोरखपुर, । सफलता के मार्ग में बाधाएं हमेशा आती रहती हैं। सफलता उन्हें ही मिलती है जो इन बाधाओं से डटकर लड़ाई लड़ते हैं और अपने लक्ष्य पर केंद्रित रहते हैं। ईमानदारी से किया गया परिश्रम कभी व्यर्थ नहीं जाता है। पढ़ाई में निरंतरता अनिवार्य है। सफलता प्राप्ति के लिए सोच सदैव सकारात्मक रखें। 

यह बातें महाराणा प्रताप महाविद्यालय जंगल धूसड़ में आयोजित सम्मान समारोह में यूपीपीसीएस परीक्षा 2023 में 21वीं रैंक प्राप्त करने वाले महाविद्यालय के पूर्व छात्र कृष्णकांत विश्वकर्मा ने कहीं। डिप्टी कलेक्टर पद पर चयनित श्री विश्वकर्मा ने कहा कि जीवन में कुछ बनने के लिए सपने देखना बहुत जरूरी है, सपनों के साथ लक्ष्य का होना दूसरी आवश्यकता है। लक्ष्य निर्धारण के बाद इसकी प्राप्ति तक निरंतरता से कठिन परिश्रम करना चाहिए। समय के सही प्रबन्धन एक लक्ष्य के प्रति समर्पण से कठिन से कठिन लक्ष्य आसान हो जाता है। विद्यार्थियां द्वारा पूछे गये विविध प्रश्नों का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि सिविल सेवा की तैयारी में प्रारम्भिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा साक्षात्कार हेतु अलग-अलग प्रकार के रणनीति की आवश्यकता होती है। 

इस अवसर पर महाराणा प्रताप कृषक इण्टर कालेज, जंगल धूसड़ के पूर्व प्रधानाचार्य ब्रह्मदेव यादव ने कहा कि विद्यार्थियों की ऐसी सफलताओं से शिक्षण संस्थानों का मान बढ़ता है। पूर्वांचल में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। इस बात को कृष्णकांत विश्वकर्मा ने डिप्टी कलेक्टर बनकर साबित कर दिया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महाविद्यालय के उप प्राचार्य डॉ. विजय कुमार चौधरी ने कहा कि महाविद्यालय से शिक्षा प्राप्त कर प्रशासनिक सेवा में चयनित कृष्णकांत विश्वकर्मा आज एक प्रेरणा स्रोत के रूप में महाविद्यालय के अन्य विद्यार्थियों को प्रेरित कर रहे हैं। महाविद्यालय परिवार उनकी इस उपलब्धि पर गौरवान्वित है। संचालन विनय कुमार सिंह एवं संयोजन श्रीमती शिप्रा सिंह ने किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के सभी शिक्षक, कर्मचारी एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News