5 फरवरी से 8 फरवरी तक होंगे प्रधानाचार्य सम्मेलन

5 फरवरी से 8 फरवरी तक होंगे प्रधानाचार्य सम्मेलन

भागलपुर। पूरनमल बाजोरिया शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय नरगाकोठी में रविवार को आयोजित प्रेस वार्ता में भारती शिक्षा समिति एवं शिशु शिक्षा प्रबंध समिति के प्रदेश सचिव प्रदीप कुमार कुशवाहा कहा कि पूरनमल बाजोरिया शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय नरगाकोठी में 5 फरवरी से 8 फरवरी तक प्रधानाचार्य सम्मेलन आयोजित है। जिसमें दक्षिण बिहार के 17 जिलों से लगभग 250 प्रधानाचार्य भाग लेने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान है जो शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाली पूरे देश में सबसे बड़ी संस्था है। लगभग 25000 औपचारिक और अनौपचारिक विद्यालय चल रहे हैं। इसके अंतर्गत दक्षिण बिहार में भारती शिक्षा समिति एवं शिशु शिक्षा प्रबंध समिति कार्य कर रही है। प्रत्येक वर्ष चार दिवसीय प्रधानाचार्य सम्मेलन आयोजित किया जाता है। जिसमें गत वर्ष की समीक्षा की जाएगी एवं आगामी सत्र के लिए योजना पर चिंतन मंथन किया जाएगा।

सम्मेलन में संगठन के विस्तार व विकास के लिए प्रभावी योजनाओं का निर्माण किया जाना है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को ध्यान में रखते हुए उसे पूर्ण रूपेण इस वर्ष लागू किया जाना है। जिसकी घोषणा प्रधानाचार्य सम्मेलन में होना है। अरुण, उदय और प्रभात की कक्षा सभी स्थानों पर लागू किया जाएगा। प्रांतीय प्रधानाचार्य सम्मेलन में बालकों के सर्वांगीण विकास, विद्यालय विकास, आचार्य विकास, समाज विकास, अभिभावक विकास, समिति विकास की चर्चा होगी।

Tags:

About The Author

Latest News