आरोग्य भारती के चिकित्सकों के लिए रामभक्तों की आरोग्य सेवा सर्वोपरि 

अब तक 75 से अधिक चिकित्सक दे चुके अपनी सेवाएं

आरोग्य भारती के चिकित्सकों के लिए रामभक्तों की आरोग्य सेवा सर्वोपरि 

  • आवश्यकता के अनुरूप स्थानांतरित शिविर को परिसर के अंदर
  • एक ही शिविर में होम्योपैथी, आयुर्वेद व एलोपैथी उपचार की सुविधा
अयोध्याश्रीरामजन्मभूमि मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में दर्शनार्थियों की सेवा हेतु प्राकृतिक चिकित्सालय मणि रामदास छावनी परिसर की संजीवनी कुटी में  आरोग्य भारती द्वारा संचालित चिकित्सा सेवा शिविर को  मंदिर परिसर में दर्शनोपरांत निकास मार्ग पर स्थानांतरित कर दिया गया है। चिकित्सा सेवा समन्वय समिति में सम्मिलित डॉ पीयूष गुप्ता, आरोग्य भारती अवध प्रान्त सहसचिव डॉ उपेन्द्र मणि त्रिपाठी व डॉ मनोज सिंह ने दर्शनार्थियों की आवश्यकतानुरूप एलोपैथी, आयुर्वेद, व होम्योपैथी तीनो सेवाएं  सुलभ कराए जाने हेतु आरोग्य भारती के शिविर को परिसर में संचालित करने पर सहमति बनी। 
 
चिकित्सा सेवा समन्वयक  डॉ उपेन्द्र मणि त्रिपाठी ने बताया आरोग्य भारती के चिकित्सकों के लिए दर्शनार्थियों की आरोग्य सेवा सर्वोपरि इस भाव के साथ अभी तक 75 से अधिक चिकित्सक प्रतिदिन दो पालियों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वर्तमान में एक फरवरी से डॉ मनीष त्रिपाठी के संयोजन में काशी प्रान्त के चिकित्सक सेवाएं दे रहे हैं। शिविर में दर्शन उपरांत आने वाले भक्तों में  दर्द, थकान, व मौसमी सर्दी ,खांसी जैसे लक्षणों वाले ही मरीज अधिक होते हैं। अन्य प्रांतों जनपदों से आने वाले चिकित्सको के समन्वय सहयोग के लिए स्थानीय चिकित्सकों का एक दल डॉ दीपक गुप्ता, डॉ कल्पना कुशवाह, डॉ मनीष राय, डॉ अजित सिंह, डॉ सुनील सिंह, का भी है।
 
आरोग्य भारती अवध प्रान्त एवं होम्योपैथी चिकित्सा विकास महासंघ के चिकित्सकों के बाद काशी प्रान्त के डॉ संदीप शुक्ला, डॉ प्रियंका रस्तोगी, डॉ रेनू शुक्ला, डॉ अभिषेक पांडेय,डॉ प्रदीप मिश्र, डॉ दीपक दुबे, डॉ प्रशांत श्रीवास्तव, डॉ अनिल पांडेय, डॉ पंकज पांडेय,डॉ संध्या पांडेय, डॉ झिकमिक सरकार, डॉ अजय दुबे, डॉ अमित सिंह, डॉ अनूप मिश्रा, डॉ रामजी गुप्ता आदि अपनी सेवाएं दे चुके हैं। दैनिक क्रम में 15 फरवरी से गोरक्ष प्रान्त के चिकित्सको की सेवा 28 फरवरी तक चलती रहेगी।
Tags: Ayodhya

About The Author

Latest News