पश्चिमी विक्षोभ के असर से फरवरी के पहले सप्ताह में बदल सकता है मौसम

पश्चिमी विक्षोभ के असर से फरवरी के पहले सप्ताह में बदल सकता है मौसम

जयपुर। नए पश्चिमी विक्षोभ के असर से फरवरी के पहले सप्ताह में मौसम के बदलाव की उम्मीद बढ़ गई है। जनवरी के अंतिम दिन बुधवार को सीजन की पहली मावठ हुई। अलवर के बाहरी क्षेत्रों में भी बूंदाबांदी हुई और एमआईए क्षेत्र में ओले गिरे। मावठ के बाद सीकर जिले में नरम पड़े सर्दी के तेवर तीखे हो गए। मौसम विभाग के अनुसार आगामी दिनों में प्रदेश के कई जिलों में मावठ होने के आसार बने रहेंगे। राजधानी जयपुर सहित प्रदेश में एक बार फिर से मौसम का मिजाज बदल गया है। कल रात से ही आसमान में बादल छाए रहे। सुबह तेज हवाओं से सर्दी का प्रकोप फिर से बढ़ गया है। इस कारण लोगों की दिनचर्या सवेरे देरी से आरंभ हुई। मौसम में हल्की धुंध छाई रही। जयपुर के अलावा प्रदेश के कई जिलों में सवेरे फिर से कोहरा दिखा। कोहरे के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। जमवारामगढ उपखंड क्षेत्र में बुधवार रात को कई जगह हल्की बूंदाबांदी हुई तथा सर्द हवा ने फिर ठंडक बढा दी। गुरुवार अल सुबह हल्का कोहरा छाया हुआ था।

मौसम केन्द्र जयपुर के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पिछले 24 घंटे में बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू व झुंझनूं जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश दर्ज की गई है। सर्वाधिक बारिश हनुमानगढ़ में पांच मिमी हुई है। राज्य के उत्तरी भागों में हल्की बारिश होने की संभावना है। शेष भागों में मौसम मुख्यतः शुष्क रहेगा। तीन-चार फरवरी को एक और नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से जोधपुर, बीकानेर, जयपुर, भरतपुर संभाग के कुछ भागों में मेघगर्जन के साथ हल्के से मध्यम बारिश होने की प्रबल संभावना है।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News