सरकार दस लाख इनकम तक, करें टैक्स फ्री -अमरनाथ मिश्र

ऑनलाइन ट्रेडिंग पर बीस फीसदी तक लगे अतिरिक्त शुल्क

सरकार दस लाख इनकम तक, करें टैक्स फ्री -अमरनाथ मिश्र

  • जीएसटी में बदलाव करने की जताई आवश्कता
लखनऊ। फुटकर कारोबारियों को बचाने के लिए ऑनलाइन कारोबार पर अतिरिक्त शुल्क लगाया जाना चाहिए ,जिससे फुटकर कारोबारियों को राहत मिल सके। जिसमें फुटकर कारोबारी रोजगार देने के साथ-साथ समाज के लिए भी समर्पित रहने का कार्य करते हैं। यह जानकारी सोमवार को लखनऊ व्यापार मंडल के अध्यक्ष अमरनाथ मिश्र ने दी। उन्होंने मौजूदा सरकार से अपेक्षा जताते हुए कहा कि सबसे पहली माँग सरकार के द्वारा एमएसएमई सेक्टर में ट्रेडर्स को भी जोड़ लिया गया है, ऑनलाइन ट्रेडिंग पर 20 प्रतिशत की दर से अतिरिक्त शुल्क लगाया जाए।
 
उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स में 10 लाख तक आय तक कर रहित होनी चाहिए। कोर्ट ये मानती है कि यात्री व्यापारी की कर अपितु चुनाव की दृष्टि नहीं है तो उसके माल परिवहन पर पेनाल्टी नहीं लगनी चाहिए। अध्यक्ष ने कहा कि अधिकारी मनमाने ढंग से जीएसटी के कानूनों का हवाला देकर तमाम तरीके के पेनाल्टी व्यापारी पर थोप रहे हैं। जिससे जीएसटी कानून में बदलाव की आवश्यकता है ताकि ईमानदार व्यापारियों का उत्पीड़न रोका जा सके, साथ ही जीएसटी कानून में यह भी संशोधन होना चाहिए कि यदि कोई पार्टी रजिस्ट्रेशन लेने के बाद कारोबार बंद करके भाग जाती है और व्यापारी पोर्टल पर एक्टिव जीएसटी एन देखकर ही माल खरीदता है ऐसे में यदि धोखा होता है तो उसका जिम्मेदार क्रेता क्यों सरकारी कर्मचारियों को भी दोषी बनाया जान चाहिए।  
 
श्री मिश्र ने कहा कि व्यापारी समाज के लिए स्मार्ट हेल्थ कार्ड एवं पेंशन की व्यवस्था होनी चाहिए।  व्यापारी के बच्चों के लिए दी गई शिक्षा की फीस करमुक्त होनी चाहिए क्योंकि तमाम तरीके के  टैक्स व्यापारी जमा करता है और इसी तरह व्यापारी के द्वारा खर्च की गई चिकित्सा रकम भी टैक्स फ्री होनी चाहिए। करदाता व्यापारियो को 25, लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा एवं 25 लाख रुपया का दुकान लूटने, जलने, क्षतिपूर्ति बीमा दिया जाए। 
Tags: lucknow

About The Author

Latest News