मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस पर उप राजधानी दुमका के पुलिस लाइन मैदान में फहराया तिरंगा

मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस पर उप राजधानी दुमका के पुलिस लाइन मैदान में फहराया तिरंगा

मुख्यमंत्री ने झारखंड आंदोलनकारी के आश्रित को दिया नियुक्ति पत्र
परेड में एसएसबी-35 वाहिनी और झांकियों में पर्यटन विभाग को पहला पुरस्कार
दुमका। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने 75वें गणतंत्र दिवस पर उप राजधानी दुमका के पुलिस लाइन में शुक्रवार को राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने अपने अभिभाषण में कहा कि झारखंड तभी सशक्त होगा जब यहां के गांव मजबूत होंगे। सरकार ने गांवों को मजबूत करने की दिशा में पहल करते हुए बिरसा हरित योजना, वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना, बिरसा सिंचाई योजना, दीदी बाड़ी योजना, मुख्यमंत्री पशुधन योजना जैसे लोक कल्याणकारी योजनाएं चलायी जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजनाओं का लाभ लेने के लिए लोगों को पहले जिला और प्रखण्ड स्तर के कार्यालयों का चक्कर लगाना पड़ता था लेकिन ‘आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार’ कार्यक्रम के तहत मैं स्वयं सभी जिला मुख्यालयों में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ और दूर-दराज इलाके में रहने वाले गरीबों की समस्याओं से रूबरू होने का अवसर प्राप्त हुआ। इस दौरान 59 लाख आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें 23 लाख आवेदनों का निष्पादन हो चुका है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि रेलवे, एसएससी आदि नियुक्तियों में कमी आने के बाद राज्य सरकार ने माध्यमिक शिक्षक, सहायक अभियन्ता, निम्नवर्गीय लिपिक, दन्त चिकित्सक, पशु चिकित्सक पंचायत सचिव आदि पदों पर हजारों नौकरियां दीं। प्रयोगशाला सहायक, पीजी शिक्षित शिक्षक, नगरपालिका सेवा, उत्पाद सिपाही, झारखंड पुलिस आदि के हजारों पदों पर बहाली के लिए प्रक्रिया अलग-अलग चरणों में है। मुख्यमंत्री ने बताया कि शिक्षक पात्रता परीक्षा के आयोजन की तैयारी पूरी हो चुकी है। बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए आधुनिक शिक्षा व्यवस्था एवं प्रतियोगिता परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए 80 की संख्या में “स्कूल ऑफ एजुकेशन” का उद्घाटन किया गया है, जहां निजी विद्यालयों की तर्ज पर शिक्षा दी जायेगी। इन विद्यालयों को सीबीएसई से सम्बद्ध किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि पिछले वर्ष सुखाड़ की चुनौतियां रहने के बावजूद केन्द्र सरकार से अपेक्षित सहायता नहीं मिली। बावजूद इसके मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना तथा झारखंड कृषि ऋण माफी योजना के माध्यम से किसानों को हर सम्भव सहायता पहुंचाने का प्रयास किया। मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत लगभग 14 लाख लाभुकों को 480 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिरसा सिंचाई कूप योजना के नाम से एक नयी योजना प्रारम्भ की गयी है, जिसके तहत 10 लाख कूपों का निर्माण होगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2023-24 में 1000 करोड़ रुपये के बजटीय उपबन्ध से 2000 किलोमीटर पथों के निर्माण का लक्ष्य है।

स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रित पत्नी को किया गया सम्मानित
स्व. धनेश्वर मंडल की आश्रित पत्नी चन्द्रावती देवी (ग्राम- बंदरी, प्रखण्ड- सरैयाहाट, जिला- दुमका)।
स्व. पतरू राय की आश्रित पत्नी परवतिया देवी (ग्राम- परसदाहा, प्रखण्ड- सरैयाहाट, जिला- दुमका)।
स्व. दशरथ राय की आश्रित पत्नी सरोतिया देवी (ग्राम- डेलीपाथर, प्रखण्ड- रामगढ़, जिला- दुमका)।

पुरस्कृत होने वाली परेड टुकड़ी
प्रथम पुरस्कार- एसएसबी-35 वाहिनी।
द्वितीय पुरस्कार-एसआईआरबी- 01 दुमका।
तृतीय पुरस्कार- एनसीसी बटालियन एवं भारत स्काउट एंड गाइड (महिला ), दुमका।

इन विभागों की झांकियों को मिला पुरस्कार
प्रथम पुरस्कार- पर्यटन विभाग, दुमका।
द्वितीय पुस्कार- जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, दुमका।
तृतीय पुरस्कार- वन विभाग, दुमका।

झारखंड आंदोलनकारियों के आश्रितों को मिला नियुक्ति पत्र
क्लेमेंट मुर्मू, (निम्नवर्गीय लिपिक, साहेबगंज)।
विजय कु. मुर्मू (निम्नवर्गीय लिपिक, साहेबगंज)।
राजेश हेमब्रम (अनुसेवक, साहेबगंज)।
मारंग मुर्मू (अनुसेवक, साहेबगंज)।

झारखंड आंदोलनकारियों के आश्रितों को पेंशन प्रमाण पत्र
महादेव टुडू (अंचल -मसलिया )।
नागेंद्र हेमब्रम (अंचल -जरमुण्डी)।

इन्हें भी मिला नियुक्ति पत्र
राजू कुमार।
गीतिल तिरिया।

 

 

Tags:

About The Author

Latest News