भारतीय मूल के छात्र की मौत के बाद मादक पदार्थ तस्कर को जेल भेजा गया

भारतीय मूल के छात्र की मौत के बाद मादक पदार्थ तस्कर को जेल भेजा गया

लंदन। कैंब्रिज विश्वविद्यालय के एक भारतीय मूल के छात्र की मौत के बाद मादक पदार्थ के एक तस्कर को साढ़े चार साल जेल की सजा सुनाई गई। तस्कर खुद को “फार्मासिस्ट” होने का दावा करता है। मार्च 2021 में कैंब्रिज विश्वविद्यालय के ट्रिनिटी कॉलेज में एक दोस्त के कमरे में 20 वर्षीय केशव अयंगर को अधिकारियों द्वारा मृत पाए जाने के बाद कैम्ब्रिजशायर पुलिस ने बेंजामिन ब्राउन का पता लगाया था। कोरोनर (मृत्यु के कारण का पता लगाने वाले अधिकारी) की रिपोर्ट ने बाद में निष्कर्ष निकाला कि अयंगर की मौत मादक द्रव्यों से संबंधित थी और पुलिस जांच में उसके फोन पर “लीन जान मैन” नामक मादक पदार्थ तस्कर के संदेश मिला था। अधिकारियों ने “लीन जान मैन” की पहचान सरे में गिल्डफोर्ड के 32 वर्षीय ब्राउन के रूप में की।

मामले की जांच करने वाले कैम्ब्रिजशायर पुलिस के ‘डिटेक्टिव कॉन्स्टेबल’ डैन हार्पर ने कहा, “ब्राउन सरे में नशा बेचने का काम कर रहा था जिसके दुखद परिणाम हुए।” हंटिंगडन अदालत ने उसे पिछले सप्ताह सजा सुनाई थी। अदालत को बताया गया कि ब्राउन ने खुद को इंस्टाग्राम और स्नैपचैट के माध्यम से विभिन्न प्रकार की केवल-डॉक्टर के पर्चे के आधार पर दी जाने वाली दवाएं बेचने वाला “फार्मासिस्ट” बताया।

Tags:

About The Author

Latest News

Lok Sabha : बीजेपी के टिकट पर गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे युवराज सिंह Lok Sabha : बीजेपी के टिकट पर गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे युवराज सिंह
लोकसभा चुनाव 2024: पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने गुरदासपुर से 2024 का लोकसभा चुनाव लड़कर राजनीति में प्रवेश करने...
गुप्त सूचना पर मोरेह के एलोरा होटल के सामान्य क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया
मौसम विभाग के अनुसार इस साल उत्तर और मध्य भारत में मार्च से ही लू चलने की संभावना…
दिल्ली आबकारी घोटालाः वाईएसआर कांग्रेस सांसद के बेटे राघव मगुंटा को सहकारी गवाह बनने की अनुमति
एफआईयू ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर लगाया 5.49 करोड़ रुपये का जुर्माना
भोजपुरी भाषा का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए गर्व की बात : अंकुश राजा 
रिलीज के साथ वायरल हुआ अरविंद अकेला कल्लू का होली गीत “देवरन प दया करा”