जनपद मिर्जापुर में लागू हुए दो तरह के कानून

Exif_JPEG_420

मीरजापुर । जनपद मिर्जापुर में नगरीय क्षेत्रों में पिछले दो-तीन वर्षों से लगातार शॉपिंग मॉल्स कि जैसे होड़ मची हुई है । नगर के हर प्रमुख क्षेत्रों एवं मुख्य सड़क पर शॉपिंग मॉल, फूड प्लाजा, आदि बाजार संस्थान भवन निर्माण नियमों के विरुद्ध , सड़क यातायात नियमों के विरुद्ध, कर नियमों के विरुद्ध , नगरपालिका भवन निर्माण और पटरी अतिक्रमण नियमों के विरुद्ध , अर्थात कानून की धज्जियां उड़ा कर के सिर्फ रुपयों के बल पर कानून को ठेंगा दिखाते हुए पुलिस प्रशासन , यातायात और विकास प्राधिकरण को भी ठेंगा दिखाते हुए सड़क के मुख्य मार्गों पर शॉपिंग मॉल फूड प्लाजा आदि का निर्माण धड़ल्ले से जारी है । सिटी लाइफ, सिटी कार्ट, फूड प्लाजा , वी मार्ट, मेगा मार्ट , आदि नामों से शहर के विभिन्न मुख्य मार्गों पर बड़े-बड़े व्यवसायिक बाजार खुले हुए हैं, जो सड़क से लेकर के अपने इमारत की आखिरी छत तक कानून के नियमों के विरुद्ध और उनकी धज्जियां उड़ाकर के बने हुए हैं । नगर के मुख्य मार्ग बेलतर में गुरुवार 13 जून को फिर एक नए सिटी लाइफ नाम से बाजार व्यापार का उद्घाटन हुआ है ।जिसके चलते सड़क यातायात पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है । सड़कों पर दोनों पटरियों सहित मध्यमार्ग तक गाड़ियों का अंबार लगा हुआ है । आमजन को आने जाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ।

यातायात व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। जहां एक ओर नगर में पिछले कुछ दिनों से यातायात प्रभारी द्वारा पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर शहर में एक क्रेन रिकवरी वैन लेकर जो सड़क पर विपरीत पार्किंग के अनुसार या गलत पार्किंग में खड़ी हुई हैं उन को उठाकर चालान कर रही है और सीज कर रही हैं । जहां एक ओर यह दिखावा हो रहा है वहीं दूसरी ओर शहर के मुख्य मार्गो पर पूरी तरह से सड़क को जाम करके गाड़ियों का अंबार लगा हुआ है वहां न तो कोई चालान करने वाला सिपाही होमगार्ड या यातायात का कोई सिपाही दिखता है और ना तो गाड़ी सीज होने की कोई खबर आ रही है और न तो रिकवरी क्रेन वैन उस ओर का रुख कर रहे हैं। क्या माजरा है यह तो सिर्फ संस्थान के मालिक और प्रशासन जान सकती है। लेकिन आम आदमी इतना जरूर जानती है कि भवन निर्माण जो बाजार निर्माण हुए हैं वह भी मानक के विपरीत हैं। फायर बिग्रेड संयंत्र लगे होने की कोई सूचना नहीं है , ना तो आग से बचाव का कोई अतिरिक्त निकास द्वार दिया गया है ना तो अंडरग्राउंड पार्किंग दी गई है।

यानी विकास प्राधिकरण के मानक के विपरीत होते हुए, अग्निशमन नियमों के विरुद्ध होते हुए, सड़क यातायात नियमों के विरुद्ध होते हुए, बाजार व्यापार कर नियमों के विरुद्ध होते हुए भी यह संस्थान पूरी तरह से धड़ल्ले से बड़े ही सीना तान कर के शहर के जिले के बड़े-बड़े मंत्रियों और हुक्मरानों , माननीयों से अपने संस्थान के उद्घाटन का फीता कटवा कर के अपने आप को इस प्रकार समझ रहे हैं जैसे कानून उनकी उंगली पर नाचने वाला हो। इतना ही नहीं कटरा कोतवाली क्षेत्र के बेहतर मोहल्ले में मात्र चंद कदम पर ही दो सिटी कार्ट और सिटी लाइफ नाम से दो बिग बाजार खुले हुए हैं जो दर्शकों को लुभाने के लिए आपस में संस्थान के बाहर लाउडस्पीकर जिसे साउंड बॉक्स कहते हैं , वह तीव्र गति में बजा करके आपस में प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं कि कौन ज्यादा और लच्छेदार गानों का संचालन नगर में बजाते हुए कर रहा है ताकि लोग उससे आकर्षित होकर उनके बाजार और उनके संस्थान में आएं। जहां एक और धार्मिक संस्थानों पर पूजा पाठ आदि के लिए छोटे से छोटे कार्यक्रम वैवाहिक अथवा किसी मांगलिक कार्य के लिए भी कुछ साउंड बजाने के लिए नगर मजिस्ट्रेट और संबंधित थानों के चक्कर लगाने पड़ते हैं और एक परमिशन कराना होता है जिसके बाद ही साउंड बॉक्स या लाउडस्पीकर बजाए जा सकते हैं।

परंतु इन बिग बाजार, सिटी मार्ट, सिटी लाइफ, सिटी कार्ट आदि नाम से बिग बाजार, वी मार्ट , आदि नामों से जो बाजार खुले हुए हैं उन्हें शायद किसी भी परमिशन की जरूरत नहीं पड़ती चाहे वह नगरपालिका का पटरी अतिक्रमण हो, चाहे विकास प्राधिकरण के बिल्डिंग अथवा भवन के मानक हो , अथवा नगर प्रशासन नगर मजिस्ट्रेट द्वारा प्राप्त ध्वनि प्रदूषण के लिए कोई परमिशन हो, अथवा सेल्स टैक्स , इनकम टैक्स और ट्रेड टैक्स द्वारा जारी कोई भी सर्टिफिकेट हो, जिसके आधार पर यह बाजार में नकली और घटिया उत्पादों को सील और लेबल लगाकर के आम जनमानस को लूटने का उन्हें लाइसेंस मिला हुआ है।आम जनता यही समझ रही है कि शायद जनपद मिर्जापुर में दो तरह के कानून लागू हैं, जो एक तो गरीब आम जनमानस के लिए हैं और दूसरा बड़े बड़े संस्थानों के मालिकों और धनवानों के लिए हैं, जिनके सहायक बड़े-बड़े मानिंद, माननीय लोग हैं जिनके साथ रहने पर पुलिस या प्रशासन उन पर उंगली नहीं उठा सकती । ना तो कोई प्रश्नचिंह लगा सकती है। वह चाहे कुछ भी करें शहर में वह आजाद हैं।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper