सेंसेक्स ने पहली बार 37,000 अंक के स्तर को छुआ

नई दिल्ली। घरेलू संस्थागत निवेशकों की भारी लिवाली के बीच पूंजीगत वस्तु, एफएमसीजी, रीयल्टी और बैंकिंग शेयरों में बड़े पैमाने पर लिवाली से सेंसेक्स ने पहली बार 37,000 अंक के स्तर को छुआ। निफ्टी भी नये उच्चतम स्तर 11,172.20 अंक पर पहुंच गया।

डेरिवेटिव्स खंड में जुलाई कारोबार की समाप्ति से पहले सौदे करने और डॉलर के मुकाबले रुपये में तेजी से भी बाजार को समर्थन मिला। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक शुरुआती कारोबार में 156.42 अंक यानी 0.42 प्रतिशत उछलकर सर्वकालिक उच्च स्तर 37,014.65 अंक पर पहुंच गया. इससे पहले कल के कारोबारी सत्र के दौरान सेंसेक्स नये रिकार्ड 36,947.18 अंक पर पहुंच गया था।

पूंजीगत वस्तुओं, एफएमसीजी, रीयल्टी, बैंकिंग, सार्वजनिक उपक्रम, वाहन, स्वास्थ्य सेवा, बुनियादी ढांचे और पेट्रोलियम एवं गैस कंपनियों के शेयरों में मजबूत बढ़त ने सेंसेक्स को इस स्तर पर पहुंचने में मदद की।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती दौर में 40.20 अंक यानी 0.36 प्रतिशत उछलकर नये रिकॉर्ड 11,172.20 अंक पर पहुंच गया। विश्लेषकों ने कहा कि घरेलू संस्थागत निवेशकों की लिवाली और कुछ कंपनियों के बेहतर तिमाही नजीतों ने भी बाजार का समर्थन किया।

अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कल 97.64 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे जबकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1,195.75 करोड़ रुपये की बिकवाली की। अमेरिकी राष्ट्रपति और यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष के व्यापार मोर्च पर जारी तनाव को कम करने पर राजी होने के बाद कल अमेरिकी शेयरों में तेजी देखी गयी। इसका असर एशियाई शेयर बाजार पर भी पड़ा।

अन्य एशियाई बाजारों मे, हांगकांग का हेंग सेंग सूचकांक 0.56 प्रतिशत जबकि जापान का निक्केई सूचकांक शुरुआती कारोबार में 0.02 प्रतिशत चढ़ा। हालांकि, शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.01 प्रतिशत गिरा।

See also  विदेश से धन भेजने के मामले में भारतीय अव्वल, 2018 में 79 अरब डॉलर भेजे