बिहार: 48 घंटे में 79 लोगों को आया हार्ट अटैक

पटना। ठंड के कारण हार्ट अटैक की घटनाएं बढ़ गई हैं, जबकि हृदय की अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों की संख्या भी बढ़ गई है। अस्पतालों में पहले की तुलना में एक सप्ताह में हृदय रोगियों की संख्या में 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पिछले 48 घंटे में पटना शहर के चार प्रमुख बड़े अस्पतालों में 79 हार्ट अटैक के मरीजों को भर्ती कराया गया। इनमें सबसे अधिक संख्या 55 से 65 वर्ष के आयुवर्ग के लोगों की है।

आईजीआईएमएस के हृदय रोग विभाग के अध्यक्ष प्रो. वीपी सिंह ने बताया कि अस्पताल में हार्ट अटैक के 17 मरीज भर्ती कराए गए हैं। ओपीडी में पहले की तुलाना में 30 प्रतिशत मरीजों की वृद्धि हुई है। ज्यादातर मरीजों को ठंड के कारण हार्ट अटैक या सीने में दर्द की शिकायत हुई है। बुजुर्गों में यह समस्या अधिक है। पीएमसीएच स्थित आईजीआईसी में भी 20 मरीज भर्ती किए गए। हालांकि हार्ट अटैक से किसी के मरने की सूचना नहीं है। इस अस्पताल के सभी बेड फुल हो गये हैं। बेड नहीं होने के कारण मरीजों को स्टैचर पर रखकर उपचार किया जा रहा है।

निदेशक डॉ. एसएस चटर्जी का कहना है कि पिछले एक सप्ताह में ठंड के कारण हृदय के मरीजों की संख्या काफी बढ़ी है। इसी प्रकार कंकडबाग स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में 20 तथा नाला रोड स्थित एक अन्य प्राइवेट अस्पताल में 20 हार्ट अटैक के मरीज भर्ती कराए गए हैं। हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रभात कुमार का कहना है कि ठंड में हृदय की धमनियां धीमी हो जाती हैं। इसीलिए जो हृदय रोगी हैं उन्हें नियमित दवाएं लेते रहना चाहिए। बुजुर्गों को सूर्य की रोशनी में रहने, गर्म कपड़ा पहनने, ठंड में नहीं टहलने की सलाह दी जाती है। इससे इस मौसम में हार्ट अटैक से बचा जा सकता है।

See also  सैकड़ों गरीबों असहाय लोगों के बीच खाद्य सामग्री का किया वितरण